शाही इमाम अहमद बुखारी ने किया बसपा का समर्थन, सपा पर बोला तीखा हमला

नई दिल्ली ( 9 फरवरी ): उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए शनिवार को मतदान होगा। दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना अहमद बुखारी ने बसपा को समर्थन देने का ऐलान किया है।

इतना ही नहीं मौलाना ने समाजवादी पार्टी को मुस्लिम विरोधी भी बताया है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में मुसलमानों का सिर्फ शोषण हुआ है और उनके साथ सिर्फ नाइंसाफी हुई है। इस बार के चुनाव में मौलाना ने बसपा को समर्थन देने की बात कही।

मौलाना ने 2012 में सपा का समर्थन किया था, लेकिन इस बार सपा से नाराजगी जताते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में सपा सरकार के दौरान मथुरा, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर समेत 400 से ज्यादा दंगे हुए हैं जिसके कारण मुसलमानों को खूनी दंगों के कारण सांप्रदायिक फसाद की वारदात सहन करनी पड़ी। इसके अलावा राज्य में अखलाक और पुलिस अधीक्षक जिया-उल-हक की हत्या कर दी गई।

शाही इमाम ने मुसलमानों की बदहाली के लिए सपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि कई राजनीतिक पार्टियां समझती हैं कि उन्हें वोट देना मुसलमानों की मजबूरी है, लेकिन मुसलमानों को उनकी यह धारणा दूर करके बताना चाहिए कि जब तक हमारी समस्याओं का समाधान नहीं होगा, उत्तर प्रदेश में राजनीतिक स्थिरता का सवाल ही पैदा नहीं होता।

राज्य में चुनाव अपनी चरम पर है, मौलाना का ये बयान समाजवादी पार्टी के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है।