क्या नगरोटा पर हुआ हमला अफज़ल गुरू का बदला था ?


आसिफ सुहाफ, श्रीनगर (30 नवंबर): नगरोटा में मारे गए दहशतगर्दों के पास से कुछ कागज बरामद हुए हैं, जिनपर उर्दू भाषा में 'अफजल गुरु के इंतकाम की एक और किश्त' लिखा हुआ है। इतना ही नहीं इन आतंकियों के पास से भारत में बने सामान भी मिले हैं, जिससे साफ पता चलता है कि इन आतंकियों को लोकल का पूरा सपोर्ट हासिल था। यानि भारतीय सीमा में दाखिल होने के बाद इन्हें ये सामान दिए गए।

आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद हुए हैं...
- 3 AK47 की राइफलें
- 20 AK47 की मैग्ज़ीन
- 1 पिस्टल, 1 पिस्टल मैग्ज़ीन
- 31 ग्रेनेड
- 10 IED
- 5 लिक्विड कैमिकल IED
- 1 जीपीएस
- 1 मोबाइल
- 2 मोबाइल चार्जर
- 2 चाकुओं के बैग
- 2 ड्रेसिंग रोल

बड़े प्लान के तहत आतंकी नगरोटा पहुंचे थे। खुलासा ये भी हुआ है कि आतंकियों ने पुलिस की जो ड्रेस पहनी हुई थी, उन्हें भी बॉर्डर इलाके पर सिलकर तैयार किया गया था। यानि इन आतंकियों को लोकल का पूरा समर्थन मिला।