RBI गवर्नर के इस्तीफे पर बोले राहुल गांधी- बीजेपी के हमलों को रोकना होगा


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 दिसंबर): इस वक्त एक बेहद चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। RBI के गवर्नर उर्जित पटेल ने इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के पीछे उन्होंने निजी कारणों को जिम्मेदार बताया है।आपको जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के बीच पिछले काफी समय से विवाद चल रहा था। भारत सरकार ने अगस्त 2016 में आरबीआई के डिप्टी गवर्नर उर्जित पटेल को नया गवर्नर घोषित किया था। उन्होंने रघुराम राजन की जगह ली थी।उनका कार्यकाल 3 साल का था। उर्जित पटेल ने इस्तीफे में कहा है, 'व्यक्तिगत कारणों की वजह से मैंने मौजूदा पद तत्काल प्रभाव से छोड़ने का फैसला किया है। 


उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद कांग्रेस पार्टी ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने से एक दिन पहले सोमवार को विपक्षी दलों की बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि विपक्षी नेताओं की बैठक में हमें पता चला कि आरबीआई गवर्नर ने इस्तीफा दे दिया। उन्होंने आगे कहा, 'बैठक के दौरान आम सहमति बनी कि हमें हमारी संस्थाओं- सीबीआई, आरबीआई, EC और संविधान पर बीजेपी के हमले को रोकना होगा।'


राहुल ने कहा, 'RBI के गवर्नर ने इस्तीफा दिया क्योंकि वह केंद्रीय संस्था की सुरक्षा कर रहे थे। RBI से रिजर्व लेकर अपना बचाव करना देश के खिलाफ कदम है। मुझे गर्व है कि सभी संस्थानों से लोग इसके खिलाफ खड़े हो रहे हैं।' उधर, कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि इस सरकार ने आरबीआई के रूप में एक और संस्था की गरिमा धूमिल कर दी है।


सुरजेवाला ने कहा, ‘एक और संस्था- आरबीआई की गरिमा को मोदी शासन ने धूमिल किया जो आरबीआई गवर्नर की विदाई में दिखता है।’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘आर्थिक अराजकता, भारत की मुद्रा नीति से समझौता और सरकार द्वारा नियुक्त कठपुतलियों के जरिए आरबीआई की स्वतंत्रता पर कुठाराघात करना बीजेपी का डीएनए है।’


कांग्रेस के सांसद अहमद पटेल ने कहा कि जिस तरीके से आरबीआई गवर्नर को इस्तीफे के लिए मजबूर किया गया, वह भारत की मौद्रिक और बैंकिंग प्रणाली पर एक कलंक है। उन्होंने कहा, ‘बीजेपी सरकार ने वित्तीय आपातकाल लागू कर दिया है। देश की प्रतिष्ठा और विश्वसनीयता आज दांव पर है।’