गुरु ग्रंथ साहिब अपमान मामला: अक्षय कुमार ने तोड़ी चुप्पी, सोशल मीडिया पर दी सफाई

                                                       image source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 12 नवंबर ): तीन साल पहले पंजाब के फरीदकोट स्थित बरगाड़ी में सिखों के पवित्र ग्रंथ के अपमान के मामले में पंजाब की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) की तरफ से अक्षय कुमार को भेजे गए समन के एक दिन बाद आज बाॅलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने इस मामले में चुप्पी तोड़ते हुए ऐसे आरोपों को बेबुनियाद बताया है।

बता दें कि अक्षय के साथ पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल को भी समन भेजा गया है। अक्षय ने आज सोशल मीडिया के जरिये अपना बयान जारी किया। अक्षय कुमार ने गुरमीत राम रहीम से मिलने की बात को सिरे से नकारा है।

अक्षय कुमार ने कहा है कि कुछ ऐसी अफवाहें फैल रही हैं कि मेरे गुरमीत राम रहीम सिंह नाम के एक व्यक्ति के साथ कोई संबंध रहे हैं और मैंने उसकी मीटिंग सुखबीर सिंह बादल के साथ करवाई है। मैं इस पूरे मामले को लेकर ये कुछ फैक्ट्स आप सबके सामने लाना चाहता हूं।

1- मैं गुरमीत राम रहीम सिंह से अपने जीवन में कभी और कहीं नहीं मिला हूं।

2- मुझे सोशल मीडिया से पता चला कि गुरमीत राम रहीम सिंह कुछ दिनों तक मेरे इलाके जुहू मुंबई में रहा। लेकिन मेरा कभी भी उसके साथ आमना-सामना नहीं हुआ।

3- पिछले कई सालों से मैं अपनी फिल्मों से पंजाबी कल्चर को प्रमोट करता रहा हूं। सिखिज्म के महान इतिहास को मैं अपनी फिल्मों- सिंह इज किंग और अब सारागढ़ी के युद्ध पर बनाई जा रही फिल्म "केसरी" के माध्यम से हमेशा ही प्रमोट करने और आम लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता रहता हूं। मुझे अपने पंजाबी होने पर गर्व है और मैं अपने तमाम पंजाबी भाइयों-बहनों जिनके लिए मेरे दिल में बहुत प्यार और सम्मान है, को ये सुनिश्चित करना चाहता हूं कि मैं कभी भी कोई ऐसा काम नहीं करूंगा जिनसे उनकी या हमारे धर्म की भावनाएं आहत हो।