बिहार में शराब के बाद खैनी भी हो सकती है बैन, राज्य सरकार ने केंद्र को लिखा पत्र

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 8 जून ): बिहार में शराब बैन करने के बाद राज्य सरकार खैनी को भी बैन कर सकती है। राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है। पत्र में खैनी को खाद्य उत्पाद के रूप में सूचित करने का अनुरोध किया गया है। खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) द्वारा खाद्य उत्पाद के रूप में अधिसूचित किए जाने के बाद, सरकार के पास स्वास्थ्य आधार पर खैनी पर प्रतिबंध लगाने की शक्ति होगी।केन्द्र सरकार का साथ मिला तो बिहार में खैनीबंदी भी लागू हो जाएगी। राज्य में ओरल कैंसर की भयावहता को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग उसका सबसे बड़े कारक खैनी पर ही प्रतिबंध लगाने की तैयारी कर रहा है। शराबबंदी के 26 महीने बाद राज्य सरकार ने इस ओर कार्रवाई शुरू कर दी है।स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि केंद्र को एक पत्र लिखा गया है, जिसमें खैनी को खाद्य उत्पाद के रूप में अधिसूचित करने का अनुरोध किया गया है।केन्द्र की एजेंसी खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (फूड सेफ्टी स्टैण्डर्ड एक्ट ऑफ इंडिया) द्वारा खाद्य उत्पाद के रूप में अधिसूचित किए जाने के बाद ही राज्य सरकार के पास स्वास्थ्य आधार पर खैनी पर प्रतिबंध लगाने की शक्ति मिल जाएगी।