Blog single photo

दुष्यंत, दिग्विजय के बाद INLD से निकाले गए अजय चौटाला

हरियाणा का दिग्गज चौटाला परिवार दो फाड़ होने की कगार पर है। जी हां, बता दें कि अजय चौटाला द्वारा जींद में बुलाई गई बैठक से पहले ही उन्हें इंडियन नैशनल लोकदल यानी कि आईएनएलडी से निकाल दिया गया है। अभय चौटाला गुट के आईएनएलडी प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने इसी दिन (17 नवंबर को) चंडीगढ़ में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक बुला ली है। इसके साथ ही अभय चौटाला ने विधायकों के पाला बदल की आशंका को खत्म करने के लिए विधायकों पर भी तलवार लटका दी है।

                                                                                                              Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 नवंबर): हरियाणा का दिग्गज चौटाला परिवार दो फाड़ होने की कगार पर है। जी हां, बता दें कि अजय चौटाला द्वारा जींद में बुलाई गई बैठक से पहले ही उन्हें इंडियन नैशनल लोकदल यानी कि आईएनएलडी से निकाल दिया गया है। अभय चौटाला गुट के आईएनएलडी प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने इसी दिन (17 नवंबर को) चंडीगढ़ में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक बुला ली है। इसके साथ ही अभय चौटाला ने विधायकों के पाला बदल की आशंका को खत्म करने के लिए विधायकों पर भी तलवार लटका दी है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अशोक अरोड़ा ने पार्टी सुप्रीमों ओमप्रकाश चौटाला के एक पत्र का हवाला देते हुए अजय चौटाला को पार्टी से निष्कासित करने का ऐलान मीडिया के सामने किया। हालांकि, निष्कासन पर ओमप्रकाश चौटाला के दस्तखत वाला पत्र सामने नहीं आया है। इस पर अरोड़ा ने कहा कि वह प्रदेश अध्यक्ष के नाते ऐलान कर चुके हैं। वहीं ओमप्रकाश चौटाला के दस्तखत के साथ सांसद दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला के निष्कासन वाले पत्र मीडिया में बांटे गए।कुल मिलाकर गोहाना रैली के साथ चाचा-भतीजे में शुरू हुई लड़ाई अब दो भाइयों अजय और अभय के बीच खुलकर सड़क पर आ चुकी है। परिवार में सुलह करवाने के तमाम जतन विफल साबित हो गए हैं और अब पूरे प्रदेश की निगाह 17 तारीख को जींद और चंडीगढ़ में होने वाली सामानांतर बैठकों पर लग गई हैं। अब यह देखना रोचक रहेगा कि एक बड़े काडर वाले इस सियासी परिवार में कौन सा चेहरा कहां नजर आता है। सबकी निगाहें अब दोनों बैठकों में पारित होने वाले फैसलों और अगली रणनीति पर भी रहेगी। अबतक यह माना जा रहा था कि अजय चौटाला जींद में होने वाली बैठक के जरिए अभय गुट के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर सकते हैं लेकिन अभय गुट ने ऐसा होने से पहले ही अजय पर तलवार चलाकर नहले पर दहला मार दिया।संवाददाता सम्मेलन में अभय के साथ मौजूद पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा, '12 नवंबर को पार्टी सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला ने एक पत्र दिया था। जिसे जारी करने से पहले पार्टी के तमाम नेताओं ने यह प्रयास किया कि अजय सिंह चौटाला जींद की बैठक को रद्द करें और पार्टी पूरी एकजुटता के साथ विरोधी राजनीतिक दलों का मुकाबला

NEXT STORY
Top