हाफिज का 'गुलाम' पाकिस्तान, चुपके से सईद के संगठन का बदला नाम, 5 फरवरी को लाहौर में रैली...

डॉ. संदीप कोहली,

नई दिल्ली (4 फरवरी): पाकिस्तान एक बार फिर पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हुआ है... मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के खिलाफ पाकिस्तान का एक्शन मात्र दिखावा था... पाकिस्तान ने आतंकी हाफिज सईद की नजरबंदी तो दिखाई लेकिन आतंकी संगठन जमात-उद-दावा पर कोई प्रतिबंद नहीं लगाया... हाफिज ने चुपके से दुनिया की आंख में धूल झौंकने के लिए संगठन का नया नामकरण कर दिया... जमात-उद-दावा से नाम बदलकर ‘तहरीक आजादी जम्मू-कश्मीर’(TAJK)हो गया... इससे यह साफ है कि आतंकी हाफिज सईद को नवाज सरकार की योजना की भनक थी... या कहा जाए कि नवाज सरकार ने अपनी सारी योजना की जानकारी पहले सी ही आतंकी हाफिज सईद को दे दी थी... नामकरण के बाद संगठन ने अपनी आतंकी गतिविधियां भी शुरू कर दी हैं... संगठन 5 फरवरी को पाकिस्तान में ‘कश्मीर दिवस’ के रूप में मनाएगा... लाहौर में TAJK के बैनर तले अमेरिका और भारत के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा...

आतंकी हाफिज सईद की जान बचाने के लिए किया नजरबंद...

    *तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का एक आतंकी संगठन है जो वजीरिस्तान में सक्रिय है।

    *इस आतंकी संगठन के खिलाफ पाक सेना ने 22 महीनों से युद्ध छेड़ रखा है।

    *ऑपरेशन 'जर्ब-ए-अज्ब' के तहत अब तक 9500 आतंकी मारे जा चुके हैं।

    *पहले हाफिज सईद ने तालिबान के समर्थन में 'जर्ब-ए-अज्ब' का विरोध किया था।

    *हाफिज सईद ने तालिबान के समर्थन में सरकार के खिलाफ रैलियां की थी।

    *लेकिन बाद में पाकिस्तान में तहरीक-ए-तालिबान के हमले बढ़ने लगे।

    *हाफिज सईद ने तहरीक-ए-तालिबान के खिलाफ फतवा जारी कर दिया।

    *जिससे तहरीक-ए-तालिबान बौखला गया और हाफिज सईद को जान से मारने की धमकी दे दी।

    *फरवरी 2010 में तहरीक-ए-तालिबान ने हाफिज सईद को मारने के लिए सुसाइड बम भेजा।

    *मुजफ्फराबाद में हुए इसे हमले में हाफिज सईद बाल-बाल बच गया।

हाफिज सईद को नवाज सरकार ने दी Z+ सुरक्षा...

    *पाकिस्तान सरकार ने 2010 के बाद से हाफिज सईद की सरकारी सुरक्षा और बढ़ा दी।

    *आतंकी हाफिज सईद का लाहौर के चौबुर्जी में आलिशान बंगला है।

    *हाफिज के पास महंगी-महंगी लग्जरी गाड़ियां और बड़े-बड़े घोड़ों के अस्तबल हैं।

    *पाक सरकार ने हाफिज के घर की सुरक्षा Z+ कैटेगरी के लेवल की बना रखी है।

    *उसके घर के 300 मीटर दूर चार बैरीकेड लगाए गए हैं।

    *वहां पाकिस्तान पंजाब पुलिस के 48 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।

    *इसके अलावा लश्कर के 50 आतंकी 24 घंटे उसके साथ साए की तरह चिपके रहते हैं।

पाकिस्तान के झूठ का खुलासा कैसे हुआ...

    *पाकिस्‍तान के इस झूठ का खुलासा वहां के एक राजनीतिज्ञ विशेषज्ञ डॉ. शाहिद मसूद ने किया है।

    *पाकिस्तान के एक न्‍यूज चैनल BOL टीवी पर डॉ. शाहिद मसूद ने यह खुलासा किया है।

    *हाफिज सईद को उसके घर में नजरबंद किया गया क्‍योंकि उसे टीटीपी से खतरा है।

    *टीटीपी यानी तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान जिसने हाफिज को मारने की कसम ली है।

    *डॉ.मसूद के मुताबिक टीटीपी ने अपने लड़कों को हाफिज सईद को मारने के लिए पाक भेजा है।

    *संगठन के स्‍लीपर सेल्‍स इस समय सिंध और पंजाब में ऑपरेट कर रहे हैं,

    *स्‍लीपर सेल्‍स का मकसद हाफिद सईद को निशाना बनाना है।

    *अफगानिस्‍तान से आईं कुछ कॉल्‍स और मैसेज को पाक की एजेंसियों ने इंटरसेप्‍ट किया है।

    *इनके जरिए टीटीपी की साजिश के बारे में जानकारी मिली है और यही वजह है कि उसे नजरबंद किया गया है।

    *डॉ. मसूद के मुताबिक इस समय सईद की सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी कड़ी कर दी गई है।

    *हाफिज सईद के अलावा जेयूडी के चार और लीडर्स को नजरबंद किया गया है।