अफरीदी कमबैक के लिए जुटे, कहा- 'सीनियर्स ने मेरे नाम पर कीचड़ उछाला'

कराची (19 मई) :  पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान शाहिद अफरीदी फिर इंटरनेशनल कमबैक की तैयारी में जुटे हैं। उन्होंने पाकिस्तान के सीनियर टीम मैनेजमेंट पर भी निशाना साधा। अफ़रीदी ने कहा कि ये निराशाजनक था कि लोगों ने झूठ बोला और मेरा नाम कीचड़ में घसीटने की कोशिश की।  

डॉन डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक अफरीदी क्रिकेटिंग सर्किट में वापसी के लिए इंग्लिश क्लब हैम्पशायर में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए जी-जान से जुटे हैं। बता दें कि पाकिस्तान के जुलाई से शुरू होने वाले इंग्लैंड के दौरे के लिए संभावित खिलाड़ियों के कैंप में अफरीदी को शामिल नहीं किया गया है। इससे माना जाने लगा कि 36 वर्षीय अफरीदी के इंटरनेशनल क्रिकेट करियर पर पर्दा गिर गया है।  

भारत में हाल में हुए टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान ग्रुप स्टेज में ही बाहर हो गया था। इसके लिए अफरीदी ने एक वीडियो में देश के लोगों से माफ़ी मांगी थी। अफ़रीदी के लीडरशिप स्टाइल की पाकिस्तान के तत्कालीन कोच वकार यूनिस और तत्कालीन मैनेजर इंतिखाब आलम ने कड़ी आलोचना की थी। ये बात लीक रिपोर्ट में सामने आई थी। हालांकि उस विवाद के बाद वकार यूनिस और इंतिखाब आलम दोनों को ही उनके पदों से हटा दिया गया था।

अफरीदी ने एक इंटरव्यू में सीधे लीक रिपोर्ट का हवाला तो नहीं दिया लेकिन कहा, 'ये निराशाजनक था कि लोगों ने झूठ बोला और मेरा नाम कीचड़ में घसीटा।' अफरीदी ने कहा, 'वो अपनी स्थिति बचाने की कोशिश कर रहे थे और मुझे मीडिया के ट्रायल का मुद्दा बना दिया।  हमने खराब खेला था और हार गए लेकिन इसके लिए सिर्फ एक व्यक्ति के तौर पर मुझे ज़िम्मेदार ठहराना सही नहीं था। ये सामूहिक नाकामी थी।'

अफरीदी ने वन डे फॉर्मेट से पिछले साल रिटायरमेंट लिया था। टेस्ट क्रिकेट से वे 6 साल पहले ही संन्यास ले चुके हैं। अफरीदी ने कहा कि 'मैं 2011 के बाद पहली बार हैम्पशायर टीम में वापसी का उत्सुकता से इंतज़ार कर रहा हूं। इससे मुझे पाकिस्तान टी20 में वापस आने में मदद मिलेगी। मैं अपने देश के लिए खेलने को हमेशा तैयार हूं।'

 बता दें कि 2009 का टी20 वर्ल्ड कप पाकिस्तान को जिताने में अफ़रीदी की उल्लेखनीय भूमिका रही थी। लेकिन अफरीदी अपने खेले गए पिछले 10 मैचों में फ्लॉप साबित हुए। इन 10 मैचों में अफरीदी ने सिर्फ 107 रन बनाए। इनमें से 49 रन उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ एक मैच में बनाए थे। इन 10 मैचों में वो बोलिंग में भी सिर्फ 7 विकेट ले पाए।