Blog single photo

अफगान तालिबान ने अपने 11 लोगों के बदले 3 भारतीय इंजीनियरों को रिहा किया

अमेरिका-तालिबान बातचीत शुरू कराने के एवज़ में पाकिस्तान ने अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिकी फौज़ की गिरफ्त से 11 सीनियर तालिबानी छुड़वाए हैं।

संजीव त्रिवेदी, न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(8 अक्टूबर): अमेरिका-तालिबान बातचीत शुरू कराने के एवज़ में पाकिस्तान ने अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिकी फौज़ की गिरफ्त से  11 सीनियर तालिबानी छुड़वाए हैं। इस डील के तहत छोड़े गए तीन भारतीय इंजीनियर जो करीब डेढ़ साल से पाकिस्तान तालिबान की गिरफ्त में थे। एक रिपोर्ट के मुताबिक पूरी घटनाक्रम रविवार 6 अक्टूबर को को घटी हालांकि आधिकारिक रूप से इसकी पुष्टि ना तक भारत ना ही पाकिस्तान या अमेरिका की सरकार ने  की।

अपहृतों की अदला-बदली अमेरिका और तलीबान के बीच बातचीत के फिर से शुरू होने का नतीजा है । बातचीत को कुछ दिन पहले ट्रंप ने खत्म घोषित कर दिया था, लेकिन पिछले सप्ताह अमेरिका के अफ़ग़ान वार्ताकार ज़ल्मय खलीलज़ाद ने पाकिस्तान में तालिबान सरदारों से मुलाक़ात की। अमेरिका ने बगराम के सैन्य अड्डे को नियंत्रित किया से छोड़े गए तालिबानियों के बदले भारतीयों की रिहाई की डील इसी बैठक में तय हुई । तालिबानियों की तरफ से पाकिस्तान इसमे अहम भूमिका निभा रहा है।

न्यूज यार्क टाइम्स के मुताबिक छोड़े गए 11 तालिबानियों में अब्दुल राशिद ब्लूच भी है, जिसे अमेरिका ने विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी घोषित कर रखा है। हक़्क़ानी नेटवर्क का एक प्रमुख तालिबानी अनस हक्कानी भी छोड़े गए तालिबानियों में शामिल है। रिहा हुए इंजीनियर शुरुआत में अमरीकी फौज़ के साथ रहे, जिसके बाद उन्हें काबुल में भारतीय दूतावास को सौंप दिया गया है ।

Tags :

NEXT STORY
Top