भारत आएंगे अफगान राष्ट्रपति, निशाने पर होगा पाक

नई दिल्ली (13 सितंबर): अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी कल दो दिन के दौरे पर भारत आ रहे हैं। इस दौरान वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार-विमर्श करेंगे। संभावना जताई जा रही है कि इस दौरान गनी भारत से सैन्य सहायता में वृद्धि करने की मांग कर सकते हैं।

यात्रा की घोषणा करते हुए, विदेश मंत्रालय ने जानकारी दी कि गनी और मोदी के बीच आपसी हितों से संबंधित कई मुद्दों पर विस्तृत चर्चा होगी। मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा, ‘‘आगामी यात्रा दोनों पड़ोसी देशों के बीच सतत विचार-विमर्श को जारी रखने का एक अवसर प्रदान करेगी।’’ मंत्रालय ने कहा, ‘‘इस तरह का विचार-विमर्श दोनों देशों की सामरिक भागीदारी की प्रमाणिकता है और इससे दोनों देशों के बीच के चौतरफा सहयोग को मजबूती मिली है।’’

अफगानिस्तान, भारत से हथियारों समेत रक्षा आपूर्ति में वृद्धि की मांग कर रहा है। भारत ने पिछले वर्ष अफगानिस्तान को पहली बार चार एमआई-25 लड़ाकू हेलिकॉप्टर प्रदान किया था। सूत्रों के अनुसार, अफगानिस्तान की मांग को भारत स्वीकार कर सकता है और इस तरह की सहायता की घोषणा कर सकता है। गनी अपनी यात्रा के दौरान मोदी के साथ विचार-विमर्श करने के आलावा व्यापार समुदाय के साथ भी बातचीत करेंगे और नई दिल्ली में एक प्रतिष्ठित थिंक टैंक में भाषण देंगे।