अफगानिस्तान का पाकिस्तान पर वार, भारत से दोस्ती को बताया गर्व की बात

नई दिल्ली(25 जुलाई): अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने पाकिस्तान द्वारा आतंकियों को सेफ हेवन दिए जाने पर कड़ी आपत्ति जताई है। गनी का कहना है कि अल कायदा-तालिबान से निपटने से बड़ा चैलेंज है पाकिस्तान से रिश्ते बनाना। वहीं, अफगानिस्तान भारत से अपनी दोस्ती को लेकर गर्व करता है।

गनी ने जिओ न्यूज से बातचीत में कहा कि ये समझना मुश्किल होता है, जब पाकिस्तान कहता है कि वह किसी टेररिस्ट गुट को अपना संविधान बदलने की इजाजत नहीं देगा और उन पर कार्रवाई करने के लिए एक नेशनल एक्शन प्लान तैयार करेगा। वहीं, पाकिस्तान का दूसरा गुट सरकार की कही बातों को दरकिनार कर अफगानिस्तान में आतंक और मौत का खेल खेलता है।

गनी ने ये भी कहा कि मैं क्वेटा में रह रहे तालिबान आतंकियों का ऐड्रेस भी दे सकता हूं। अगर पाकिस्तान आतंकी गुटों के खिलाफ एक्शन नहीं लेगा तो हम उस पर भरोसा नहीं करेंगे। गनी ने ये बातें शनिवार को कहीं। उसी दिन काबुल में हुए आतंकी हमले में 80 लोग मारे गए थे। इसे बीते 15 साल में सबसे बड़ा हमला बताया जा रहा है।