सट्टोरियों में हड़कंप, बर्बाद हुआ सट्टा बाजार

मुंबई (17 दिसंबर): नोटबंदी और इसके बाद सरकार की सख्ती से कालेधन के कारोबारियों में हड़कंप मचा है। उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि अपनी काली कमाई को कैसे सफेद करें। जिन नटवरलालों ने अपनी काली कमाई को बैंकों में जमा भी करवा दिया है उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि कब इनकम टैक्स और अन्य जांच ऐजेंसी इनके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दे।

इसी कड़ी में सट्टा बाजार के सटोरियों की भी नीद गायब है। नोटबंदी के बाद से सरकार ने जिस तरह से एक के बाद एक कडे़ आदेश जारी किए हैं उससे इन सटोरियों में खौफ है कि किसी भी वक्त वो सरकार और कानून की गिरफ्त में आ सकते हैं। लिहाजा बड़ी तादाद में इन लोगों ने अपने काले धंधे को बंद कर दिया और अपने पुरानों नोटों को इधर-उधर खपाने में जुटे हैं।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक पहले नोटबंदी और अब डिजिटल इकॉनोमी को बढ़ावा देने के सरकार के फैसले से उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि वो भविष्य में अपने काले कारोबार को कैसे चलाएंगे। जानकारी के मुताबिक इसी कड़े में अगले महीन मुंबई में सट्टोरिये एक मीटिंग करने जा रहे हैं। जिसमें आगे की प्लानिंग पर चर्चा की जाएगी। ये सभी लोग किसी समाजिक कार्यक्रम में इकट्ठा हो सकते हैं ताकि जांच एजेंसियों को इनकी खबर न लगे।