सेना के जवान ना करें इन ऐप का इस्तेमाल, जासूसी का खतरा: गृह मंत्रालय का आदेश

नई दिल्ली(30 नवंबर): देश भर में सेना और अर्धसैनिक बलों के जवानों के लिए गृह मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी की है। एडवाइजरी में सभी अफसर और उनके मातहतकर्मी से अपने मोबाइल फोनों से ऐसे कुछ निश्चित एप्स हटाने को कहा है जो चाइनीज कंपनियों के बने हैं या जिनके चाइनीज लिंक हैं। आधिकारिक या निजी, सभी तरह के मोबाइल फोनों से इन्हें हटाने के लिए कहा गया है। 

- केंद्रीय गृह मंत्रालय को रॉ और NTRO जैसी एजेंसियों से इनपुट्स मिलने के बाद ये एडवाइजरी जारी की गई है। एडवाइजरी में कहा गया है, ‘विश्वसनीय इनपुट्स के मुताबिक चाइनीज डेवलपर्स या चाइनीज लिंक्स वाले डेवलपर्स की ओर से अनेक एंड्राइड/IOS ऐप्स विकसित किए गए हैं जिनका कथित तौर पर जासूसी या फिर डिवाइस को नुकसान पहुंचाना मकसद हो सकता है। हमारे सुरक्षाकर्मियों की ओर से इस तरह के ऐप्स का इस्तेमाल करना डेटा सिक्योरिटी के लिए हानिकारक हो सकता है। साथ ही इसके सेना और राष्ट्रीय सुरक्षा पर असर हो सकते हैं। 

- दरअसल, सभी कर्मियों को हिदायत दी गई है कि वे तत्काल ऐसे ऐप को हटा दें और अपने सेल फोन्स को फॉर्मेट कर लें। चाइनीज स्पाईवेयर की आशंका वाले ऐप्स में ट्रूकॉलर, वीबो, वीचैट, यूसी न्यूज, यूसी ब्राउजर, बायडू मैप्स शामिल हैं। तत्काल ये साफ नहीं हो सका है कि क्या किसी एजेंसी ने हालिया दिनों में साइबर रूट के जरिए जासूसी के किसी केस को रिपोर्ट किया है? या मालवेयर ने सिस्ट्म्स को प्रभावित किया है।