भारत की नागरिकता पाने के बाद क्या बोले सिंगर अदनान...

नई दिल्ली (31 दिसंबर): पाकिस्तानी गायक अदनान सामी नए साल की शुरुआत के साथ अब भारतीय हो गए हैं। उन्हें मिली भारतीय नागरिकता 1 जनवरी से मान्य हो गई है। शुक्रवार को होम मिनिस्ट्री में स्टेट मिनिस्टर किरण रिजिजू ने उन्हें सिटिजनशिप का सर्टिफिकेट दिया। इस दौरान वो अपनी पत्नी के साथ मौजूद थे। उन्होंने पत्नी को गले लगाकर कहा कि आज का दिन उनकी जिंदगी का सबसे खूबसूरत दिन है और आज मेरा फिर से जन्म हुआ है।

उन्होंने कहा कि मैं भारत सरकार और यहां के लोगों का आभारी हूं, जिन्होंने मुझे इतना प्यार दिया। उन्होने ट्वीट कर पीएम मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह को शुक्रिया कहा। केंद्र सरकार से उन्होंने मानवतावादी आधार पर देश में उनके दर्जे को वैध करने के लिए आग्रह किया था। जिसके बाद इसे लागू किया गया है।

इससे पहले वो तीन महीने के वीजा एक्सटेंशन पर थे। जो उन्हें मंत्रालय की तरफ से 6 अक्टूबर को दिया गया था। 46 वर्षीय गायक पिछले कई सालों से भारत को अपना दूसरा घर बनाए हुए हैं। उन्होंने 26 मई को गृह मंत्रालय में गुहार लगाई थी। जिसमें उन्होंने मानवतावादी आधार पर भारत में रहने के लिए आग्रह किया था।

लाहौर में जन्में अदनान सामी पहली बार भारत में 13 मार्च, 2001 को विजिटर्स वीजा से आए थे। जिसकी वैधता एक साल थी। इस्लामाबाद के भारतीय हाई कमिशन ने इसे जारी किया था। उनका वीजा कई मौकों पर आगे बढ़ाया जाता रहा। उनका पाकिस्तानी पासपोर्ट 27 मई, 2010 को जारी किया गया था जिसकी वैधता 26 मई, 2015 को खत्म हो गई। जिसे पाकिस्तानी सरकार ने रीन्यू नहीं किया। जिसकी वजह से उन्हें भारत सरकार से मानवतावादी आधार पर उनके भारत में रहने को वैध करने के लिए आग्रह करना पड़ा।

गौरतलब है, अदनान के गाई एल्बम्स 'कभी तो नज़र मिलाओ' और 'लिफ्ट करादे' 2000 के दौरान काफी पॉपुलर रही थीं। इस साल सलमान खान अभिनीत बजरंगी भाईजान में गाए गाने 'भर दो झोली मेरी' काफी हिट हुआ।