क्या जैश-ए-मोहम्मद के निशाने पर हैं आदित्यनाथ?

नई दिल्ली(15 जुलाई): उत्तर प्रदेश विधानसभा में विस्फोटक मिलने से हड़कंप मच गया। सवाल उठ रहे हैं कि क्या बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आतंकवादियों के निशाने पर थे।यूपी विधानसभा में विस्फोटक पेंटेरीथ्रिटोल टेट्रानेरेट्रेट (पीईटीएन) मिलने के बाद साफ है कि पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के जरिए यूपी सीएम आदित्यनाथ को दी गई धमकीचेतावनी नहीं थी बल्कि इसको लेकर बेहद सतर्क होने की जरूरत है।


- जैश के ताजा संदेश में भारत का मोस्ट वांटेड आंतकी और जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर ने भारत के पीएम नरेंद्र मोदी की हालिया इजरायल यात्रा पर गुस्सा जताया है और यहूदियों और हिंदुओं (जिन्हें वो अपना पहला दुशमन मानता है) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने के लिए आतंकियों को ललकारा है।


-  उसी संदेश में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का भी जिक्र किया था। जैश-ए-मोहम्मद सरगना आतंकवादी मसूद अजहर ने कुछ समय पहले खुद एक धमकी भरा खत लिखा था और एक ऑडियो संदेश रिकॉर्ड जिसे उसके एक एसोसिएट ने रिकॉर्ड किया था जारी किया था।


- पिछले 2 हफ्तों में पीएम मोदी और यूपी सीएम योगी को दी गई ये दूसरी धमकी है। भारत की संसद पर आतंकी हमले का मास्टरमाइंड मसूद अजहर अपने धमकी संदेश में साफ कह रहा है कि अब हमले के लिए पारंपरिक तरीकों जैसे बंदूक, ग्रेनेड और गोलियों को छोड़कर नए और घरेलू तरीकों को अपनाना चाहिए।