अनुपम खेर बोले, किसी की बाल्टी बनने से अच्छा PM मोदी का चमचा बनना

नई दिल्ली(13 मार्च): बॉलिवुड एक्टर अनुपम खेर ने कहा है कि उन्हें दिन रात देश के लिए काम करने वाले प्रधानमंत्री का चमचा कहा जाता है तो इसकी वह परवाह नहीं करते। उन्होंने हैरानी जताई कि प्रधानमंत्री की तारीफ में नारे क्यों नहीं लगा सकते। 

उन्होंने कहा कि हमारे बच्चे स्कूलों में अपने प्रधानमंत्री की तारीफ में नारे क्यों नहीं लगा सकते? बच्चे थे तो हम अपने स्कूलों में लाल बहादुर शास्त्री के लिए नारे लगाते थे। क्या दिक्कत है?’’  एक चैनल से बात करते हुए खेर ने कहा कि यहां एक व्यक्ति (मोदी) है जो दिन रात काम कर रहा है, जिन्होंने पूरी दुनिया में देश की छवि निखार दी है। लेकिन वे (आलोचक) उनके हर काम में नुक्स निकालते हैं और खिंचाई करते हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी लगातार देश की बात करते हैं और उनसे पहले के किसी भी प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर से महिलाओं के लिए शौचालय की बात नहीं कही। आलोचकों द्वारा उनको ‘मोदी चमचा’ कहे जाने के बारे में पूछने पर खेर ने कहा, ‘‘दूसरे की बाल्टी की बजाए मुझे नरेंद्र मोदी का चमचा कहा जाना ठीक लगता है। मैं रक्षात्मक हो जाउं इसलिए ये शब्द (चमचा) इस्तेमाल किया जाता है। मैं दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन का भी चमचा हूं।’’