हत्यारों ने नाम और धर्म पूछा फिर पेट्रोल छिड़क कर जिंदा जला दिया

अपने पिता धर्मा के साथ  सावन (मृतक)

नई दिल्ली (22 जनवरी):  पुणे के सांबा पेठा निवासी धर्मा राठौर ने पुलिस को तहरीर दी है कि एक समुदाय के तीन लोगों ने उसके बेटे को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया क्यों कि वो हिंदु था। धर्मा का आरोप है कि विवद बैटरी चोरी का था। इसी मामले ने तूल पकड़ा तो उसका बेटा सावन घर से भाग गया था। इसके बाद आरोपियों ने उसे ढूंढ कर पकड़ लिया और महज इसलिए जला दिया, क्यों कि वो हिंदु बंजारा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक धर्मा को इस घटना की जानकारी तब हुई जब उसे किसी ने बताया कि  सावन गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती है।

(प्रतीकात्मक)

धर्मा अपनी शिकायत लेकर पुलिस के पास भी गया लेकिन उसकी एक नहीं सुनी गयी। इसके बाद उसने अपने एक रिश्तेदार वकील रमेश राठौड़ की मदद ली। रमेश राठौर ने सावन की मौत से पहले ही उसका बयान को कैमरे में शूट कर लिया और अपने ग्रुप में शेयर कर दिया। वीडियो में सावन कहता है, 'मैं पंढरपुर में फैमिली के साथ काम करता था। उनसे झगड़े के बाद काम की तलाश में पुणे आ गया। एक दिन तीन लोग आए, नाम पूछा। मैंने बताया सावन राठौड़, उन्होंने पूछा कि क्या हिंदू हो? मैंने कहा-हां। इसके बाद उन लोगों ने एक कैन में से कोई लिक्विड मेरे ऊपर डाला और आग लगा दी।'  इलाज के दौरान ही सावन की मौत हो गयी। इस पूरे मामले में डीसीपी तुषार दोषी ने कहा है कि सावन को जलाकर मारने की घटना सही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार भी  कर लिया है, लेकिन उन्होंने साम्प्रदायिक या आईएसआईएस का लिंक होने से इंकार किया है। वकील रमेश राठौड़ से सीडी लेकर उसकी जांच करवायी जा रही है।