रेल कर्मचारियों की वजह से होते हैं ज्यादातर ट्रेन हादसे- रिपोर्ट

नई दिल्ली (29 जनवरी): लाख कोशिशों के बावजूद रेल हादसों में कमी नहीं हो रही है। इससे जहां आम लोग परेशान है वहीं सरकार भी चिंतित नजर आ रही है। इसी कड़ी में रेल मंत्रालय ने ट्रेन हादसों की जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी की रिपोर्ट को माने तो ज्यादतर ट्रेन हादसों के लिए रेल कर्मचारी और अधिकारी जिम्मेदार है। इनकी लापरवाही और चूक की वजह से ज्यादातर हादसे होते हैं।

रेल मंत्रालय को सौंपी गई सुरक्षा रिपोर्ट को माने तो रेल कर्मचारियों की विफलता ट्रेन दुर्घटनाओं के पीछे की सबसे बड़ी वजह है। वहीं, ट्रेनों के पटरी से उतरने की वजह से सबसे अधिक यात्रियों की मौत होती है और लोग घायल होते हैं।रेलवे ने कानपुर के निकट एक ट्रेन के पटरी से उतरने के बाद पिछले साल छह दिसंबर को सुरक्षा पर एक कार्यबल का गठन किया था। उस हादसे में 151 लोगों की मौत हुई थी।

कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक 50 से 60 फीसदी मामलों में कर्मचारियों की चूक की वजह से हादसा होता है। जबकि ट्रेन के पटरी से उतरने की घटना में ज्यदा संख्या में लोगों की मौत होती है। रिपोर्ट के अनुसार ट्रैक में गड़बड़ी यथा पटरी का टूटना और अपर्याप्त रख-रखाव दुर्घटना की सबसे बड़ी वजहों में शामिल है।