Blog single photo

एक नया भारत बनाएंगे, बीजेपी को भगाएंगे: अभिषेक मनु सिंघवी

सीएम ममता बेनर्जी द्वारा पश्चिम बंगाल के कोलकाता में हो रही महारैली में कांग्रेस की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी शामिल हुए। उन्होंने इस रैली के लिए ममता बनर्जी को बधाई देते हुए कहा कि आज यहां 22 पार्टियों

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जनवरी): सीएम ममता बेनर्जी द्वारा पश्चिम बंगाल के कोलकाता में हो रही महारैली में कांग्रेस की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी शामिल हुए। उन्होंने इस रैली के लिए ममता बनर्जी को बधाई देते हुए कहा कि आज यहां 22 पार्टियों का इन्द्रधनुष दिखाई दे रहा है। आप इसे महागठबंधन या कुछ और नाम दे लीजिए।

सिंघवी ने यहां पर कहा, ''एक नया भारत बनाएंगे, बीजेपी को भगाएंगे। जनता की यही पुकार, अब नहीं चाहिए मोदी सरकार।'' उन्होंने कहा कि जब अमित शाह ने सैंकड़ों रैलियां की यूपी में तब किसी ने आवाज नहीं उठाई, लेकिन तेजस्वी जी ने बिहार में एक रैली की तो उनके खिलाफ इनकम टैक्स की जांच लग गई। ऐसा देश में पहली बार हो रहा है कि आपको देशहित में आवाज उठाने के लिए देशद्रोही करार दे दिया जाता है। मुझे खुशी है कि कोलकाता में भाजपा की रथयात्रा को अनुमति नहीं मिली, क्योंकि इसमें संदेह था कि इसमें जानमाल का नुकसान हो सकता था। केंद्र की मंशा बांटने की रही है।

कांग्रेसी नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि वोट विभाजन का सबसे ज्यादा फायदा बीजेपी को मिलता है, इसलिए यह जरूरी है कि इस मंच पर मौजूद नेताओं को वोट विभाजन को रोकना होगा। इसका परिणाम आप पहले देख चुके हैं, चाहे वो गोरखपुर हो या फिर फूलपुर हो। केंद्र सरकार के नेता समय-समय पर विपक्ष और गठबंधन पर अपशब्दों से हमले करते रहते हैं, लेकिन विश्व का सबसे ज्यादा और बड़ा अनैतिक गठबंधन बीजेपी ने कश्मीर में किया था।

राफेल जैसा घोटाला आजतक नहीं हुआ: अरुण शौरी

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में सीएम ममता बनर्जी की रैली में पहुंचे अरुण शौरी ने भी केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर जमकर हमला बोला है। उन्होंने सरकार पर राफेल में घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा कि इस सरकार ने रक्षा के क्षेत्र में जैसा घोटाला किया है वैसा आजतक किसी सरकार में नहीं हुआ।

एक सोच, ए‍क विचारधारा को हटाना है: यशवंत सिन्हा

यशवंत सिन्हा ने कहा कि मुझे पता है कि बीजेपी की इस महारैली पर क्या रिएक्शन होगा। वे कहेंगे कि हम एक व्यक्ति जो कि इस देश के प्रधानमंत्री है, उसको हटाने के लिए एकजुट हुए हैं। लेकिन हम यहां एक विचार को हटाने के लिए खड़े हुए हैं। पिछले 56 महीनों में देश का लोकतंत्र खतरे में आया है। हमारे सामने मोदी मुद्दा नहीं हैं, हमारे सामने मुद्दे मुद्दा हैं। मेरा सभी लोगों से आग्रह है कि मोदी को मुद्दा नहीं बनाएं, मुद्दों को मुद्दा बनाएं। उन्होंने कहा, ''वे लोग कहेंगे कि हम लोग यहां इकट्ठे हुए एक आदमी को हटाने के लिए, लेकिन हम यहां इकट्ठे हुए एक सोच, एक विचारधारा के विरोध में।''

Tags :

NEXT STORY
Top