केजरीवाल की रैली में आप विधायक नरेश बालियान बोले, काम न करने वाले अधिकारियों को ठोकना चाहिए

नई दिल्ली ( 23 फरवरी ): दिल्ली में अधिकारियों और केजरीवाल सरकार के बीच सीएम हाउस में दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ कथित बदसलूकी और मारपीट को लेकर ठनी हुई है। साथ ही मुख्य सचिव के साथ कथित बदसलूकी और मारपीट की जांच भी चल रही है। इसी बीच आम आदमी पार्टी के विधायक नरेश बालियान का विवादित बयान सामने आया है जिससे मामला और तूल पकड़ सकता है। उत्तम नगर से विधायक नरेश बालियान ने अरविंद केजरीवाल की रैली में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ किए गए सलूक को सही ठहराते हुए अधिकारियों को मारने की बात कही।

नरेश बालियान ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'जो चीफ सेक्रटरी के साथ हुआ, जो उन्होंने झूठा आरोप लगाया, मैं तो कह रहा हूं कि ऐसे अधिकारियों को ठोकना और मारना चाहिए। जो आम आदमी के काम रोक कर बैठे हैं, ऐसे अधिकारियों के साथ यही सलूक होना चाहिए।' 

तो वहीं मारपीट के इस मामले में दो विधायकों की गिरफ्तारी के बाद आगे जांच के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास को खंगाला गया। इस दौरान कई सीसीटीवी कैमरों के फुटेज जब्त किए गए। पुलिस जांच में जो सबसे अहम बात सामने आई है वह है सीसीटीवी कैमरों का 40 मिनट पीछे होना। सीएम हाउस में मौजूद 21 में से महज 14 कैमरे चल रहे थे।