अलका ने दिया इस्तीफा, कपिल मिश्रा ने वीडियो जारी कर मामले को दिया नया ट्विस्ट

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 दिसंबर): दिल्ली विधानसभा में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी से "भारत रत्न" वापस लेने की मांग वाले प्रस्ताव का विरोध करने वाली चांदनी चौक से आम आदमी पार्टी विधायक अलका लांबा ने विधायक पद और पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि इस मामले को बढ़ता देख आप पार्टी बचाव के मूड में उतरी और उसके प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने दावा किया कि जो मूल लेख सदन में पेश किया गया था, पूर्व प्रधानमंत्री के संबंध में पंक्तियां उसका हिस्सा नहीं थीं। साथ ही उन्होंने कहा कि यह एक सदस्य का हस्तलिखित संशोधन प्रस्ताव था जिसे इस प्रकार से पारित नहीं किया जा सकता। कहानी में ट्विस्ट तब आ गया जब आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने सदन की कार्यवाही का वीडियो फेसबुक पर पोस्ट कर दिया।

दरअसल दिल्ली विधानसभा में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया गया सर्वोच्च नागरिक सम्मान "भारत रत्न" वापस लेने की मांग वाला एक प्रस्ताव पारित किया गया था, जिसका अलका लांबा ने विरोध किया और विधानसभा से वाकआउट कर दिया। इसके बाद अलका लांबा ने अपना इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद आम आदमी पार्टी में आर-पार की लड़ाई शुरू हो चुकी है। हालांकि अलका लांबा का कहना है कि इस्तीफे के बारे में अंतिम फैसला वह आज लेंगी।

इस्तीफे के बाद अलका लांबा ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'आज दिल्ली असेंबली में प्रस्ताव लाया गया कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी को दिया गया भारत रत्न वापस लिया जाना चाहिए। मुझे मेरे भाषण में इसका समर्थन करने को कहा गया, जो मुझे मंजूर नहीं था। मैंने सदन से वॉक आउट किया। अब इसकी जो सज़ा मिलेगी, मैं उसके लिये तैयार हूं।'

कहानी में ट्विस्ट तब आ गया जब आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने सदन की कार्यवाही का वीडियो फेसबुक पर पोस्ट कर दिया। इस वीडियो में सदन में आप विधायक जरनैल सिंह को प्रस्ताव पढ़ते देखा जा सकता है। इसके बाद स्पीकर के आदेश के बाद सभी सदस्य खड़े होकर इस प्रस्ताव का समर्थन करते हैं। कपिल मिश्रा ने कहा कि इस प्रस्ताव को अध्यक्ष सहित सभी ने खड़े होकर पास किया। ये सब ऑन रिकॉर्ड हैं, सदन की कार्यवाही का हिस्सा हैं, उसके बाद अलका लांबा ने पार्टी के अंदर इस प्रस्ताव का विरोध किया।"

वहीं बीजेपी के ही विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने आप द्वारा अलका लांबा पर कार्रवाई की खबर आते ही दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया कि वे कांग्रेस के दबाव में कार्रवाई कर रहे हैं।