चुनाव आते-जाते रहेंगे लेकिन संवैधानिक संस्थाओं का पतन चिंताजनक- कुमार विश्वास

नई दिल्ली (14 दिसंबर): आम आदमी पार्टी के नेता और कवि कुमार विश्वास ने गुजरात चुनाव के दौरान हुए आरोप-प्रत्यारोप पर चिंता जताते हुए इसे बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।  कुमार विश्वास ने इस मुद्दे पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि चुनाव आते-जाते रहेंगे लेकिन अगर संवैधानिक संस्थाओं के पतन का क्रम जारी रहा तो लोकतंत्र कुछ शक्ति-पीठों का बंधक हो जाएगा। असंख्य बलिदानों से मिली देश की लोकतांत्रिक स्वाधीनता के साथ रहिए क्योंकि नेताओं की आयु तो नियति-निर्धारित है, किंतु देश का अस्तित्व कालातीत है। जय हिंद

चुनाव आते-जाते रहेंगे लेकिन अगर संवैधानिक संस्थाओं के पतन का क्रम जारी रहा तो लोकतंत्र कुछ शक्ति-पीठों का बंधक हो जाएगा.असंख्य बलिदानों से मिली देश की लोकतांत्रिक स्वाधीनता के साथ रहिए क्योंकि नेताओं की आयु तो नियति-निर्धारित है,किंतु देश का अस्तित्व कालातीत है.जय हिंद????????????

— Dr Kumar Vishvas (@DrKumarVishwas) December 14, 2017