अकेले पड़े कपिल मिश्रा, कुमार ने केजरीवाल पर जताया 'विश्वास'

नई दिल्ली (7 मई): दिल्ली में सियासी घमासान जोरों पर है और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरिवंद केजरीवाल की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। मंत्री पद से हटाये जाने के बाद कपिल मिश्रा ने खुलकर अरविंद केजरीवाल पर हमला कर दिया है। कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल पर 2 करोड़ रुपये रिश्वत में लेने का आरोप लगया है।


वहीं कपिल-केजरीवाल की इस लड़ाई अब एक और बड़ा ट्विस्ट आ गया है। कपिल मिश्रा को कुमार विश्वास के गुट का माना जा रहा था। लेकिन केजरीवाल पर 2 करोड़ रिश्वत लेने के आरोप लगाने के बाद कपिल मिश्रा अकेले पड़ते दिख रहे हैं। केजरीवाल के समर्थन में कुमार विश्वास आ गए हैं। कुमार विश्वास ने केजरीवाल का समर्थन करते हुए कहा है कि केजरीवाल कभी रिश्वत ले ही नहीं सकते। उनका बड़ा से बड़ा दुश्मन भी ये नहीं कह सकता कि वो भ्रष्टाचार कर सकते हैं।


आप नेता कुमार विश्वास ने कहा कि वह केजरीवाल को 12 साल से जानते हैं। केजरीवाल पैसा लेंगे या करप्शन करेंगे, ऐसा वह सोच भी नहीं सकते हैं। केजरीवाल ने कहा कि यदि सिसोदिया करप्शन करें तो सब मिलकर उन्हें बाहर निकाल देंगे और यदि वह खुद करप्शन करें तो उन्हें भी बाहर निकाला जाए। कुमार ने बताया कि केजरीवाल ने सत्येंद्र जैन से कहा कि वे पीएसी में आएं और सच सबके सामने रखें। विश्वास के मुताबिक, 'कपिल के आरोपों को दुश्मन भी सही नहीं मान सकते। मीडिया में राजनीतिक अजेंडे पर बात हो सकती है, लेकिन निजी आरोपों पर बात नहीं हो सकती। कपिल हों या अमानतुल्लाह खान, किसी को भी मीडिया से पहले पार्टी फोरम पर अपनी बात रखनी चाहिए थी।'


कभी आम आदमी पार्टी का हिस्सा रहे दिल्ली के सीएम के राजनीतिक विरोधी माने जाने वाले योगेंद्र यादव ने भी यही बात दोहराते हुए कहा कि केजरीवाल पर रिश्वत लेने के आरोपों पर ठोस सबूतों की जरूरत है।