आप ने जारी किया गोवा का घोषणा पत्र, क‍सीनो फ्री गोवा बनाने का किया वादा

नई दिल्ली (14 जनवरी): आम आदमी पार्टी ने गोवा के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। इस घोषणा पत्र में आप पार्टी ने कई बड़े-बड़े वादे किए है, जिसमें सबसे पहला वादा उसने गोवा की जनता से यह किया है कि अगर वह सत्ता में आई तो गोवा को कसीनो फ्री बना देगी।

आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार एल्विस गोम्स ने यह घोषणा पत्र जारी किया। गोम्स ने कहा कि यदि पार्टी सत्ता में आती है तो राज्य में खाली पड़े सभी पदों पर भर्तियां कराई जाएंगी। जिससे लोगों को रोजगार मिलेगा।

घोषणा पत्र में आप ने किए यह वादे...

- गोवा को बनाएंगे कसीनो फ्री

- गोवा को फ्री वाई-फाई जोन बनाएंगे

- यातायात के लिए गोवा में बसों की संख्या को बढ़ाएंगे

- सरकारी नौकरियों में एससी और एसटी को आरक्षण देंगे

- गोवा की सड़कों को बेहतर बनाएंगे।

- गोवा में टैक्सी और ऑटो ड्राइवरों की समस्या सुलझाएंगे

- गोवा में अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों को ग्रांट देंगे

- गोवा में कूडे की समस्या को सुलझाएंगे

- गोवा में शिप ट्रांसपोर्ट को शुरू करेंगे

- गोवा में 400 वाडो क्लिनिक खोलेगी। इन क्लिनिकों में महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों की फ्री जांच की जाएगी।

- गोवा के प्रमुख अस्पतालों को एम्स के तर्ज पर ही विकसित किया जाएगा। इन अस्पतालों में 500 अतिरिक्त बेड भी लगाए जाएंगी।

- सभी को फ्री पानी देने का वादा। राज्य में सभी को हर महिने 20 हजार लीटर पानी दिया जाएगा।

- ड्यूटी के दौरान मारे गए पुलिसकर्मियों के परिजनों को एक करोड़ मुआवजा देने की बात कही है।

- क्षेत्रिय प्लान को एक साल के अंदर लागू करने की बात कही है। साथ ही अगले 20 वर्षों का प्लान भी तैयार करने का वादा किया है।

- राज्य में 5 महिला पुलिस स्टेशन बनाए जाएंगे। स्कूल में लड़कियों को फ्री सेनिट्री पैड दिए जाएंगे। साथ ही इन्हें किफायती दाम पर महिलाओं के लिए सार्वजनिक स्थानों पर भी मुहैया कराया जाएगा।

- चूंकि गोवा में वित्त का ज्यादातर भाग पर्यटन से प्राप्त होता है। इसलिए सरकार आने परआप ने ऑन लाइन बुकिंग को बढ़ावा देने की बात कही है।

- पर्यावरण को हो रहे नुकसान को देखते हुए आप ने सरकार बनने पर फॉरेस्ट राइट एक्ट 2005 लागू करने की बात कही है।

- एल्विस गोम्स ने गोवा के लोगों (खासतौर पर ईडब्लूएस वर्ग को) को घर मेंटेन करने के लिए सस्ते लोन की बात कही है।

- शिक्षा के बिंदू पर गोम्स ने पुनर्मूल्यांकन फीस से परेशान स्टूडेंटस को फीस में 50 प्रतिशत छूट देने की बात कही है।