'मैं प्रशांत भूषण या योगेंद्र यादव नहीं कपिल मिश्रा हूं, पार्टी से कोई नहीं कर सकता बाहर'

नई दिल्ली ( 7 मई ): दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कपिल मिश्रा से मंत्री पद छीन लिया। कैबिनेट से बाहर किए जाने के बाद मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कपिल मिश्रा ने कहा कि मैं योगेंद्र यादव, प्रशांत भूषण या शांतिभूषण नहीं मैं कपिल मिश्रा हूं, मुझे पार्टी से कोई बाहर नहीं कर सकता। कपिल मिश्रा से यह सवाल किया गया था कि क्या कहीं उन्हें भी प्रशांत भूषण, शांतिभूषण और योगेंद्र यादव की तरह पार्टी से बाहर तो नहीं कर दिया जाएगा?


कपिल मिश्रा ने कहा कि वे 2004 से आंदोलन करते रहे हैं। इंडिया अगेंस्ट करप्शन से जुड़े रहे, आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्य भी रहे हैं इसलिए उन्हें कोई पार्टी से निकाल नहीं सकता, क्योंकि ये उनकी पार्टी है। कपिल मिश्रा ने कहा कि वे पार्टी में बने रहेंगे और झाड़ू चलाते रहेंगे। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वे कैबिनेट के ऐसे सदस्य हैं जिस पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं हैं और न ही उनके खिलाफ किसी तरह की जांच चल रही है।