न्यूज 24 के खास कार्यक्रम आमने सामने में बोले नितिन गडकरी, 'भारी भरकम चालान का मकसद पैसे कमाना नहीं जीवन बचाना है'

Aamne Samne

पंकज मिश्रा, न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 सितंबर): नए मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद से सड़क पर हड़कंप मचा हुआ है। हर जगह पर हालात बेकाबू से नज़र आ रहे हैं। कहीं पर लाइसेंस के लिए लंबी कतारें लग रही हैं तो कहीं पर पॉल्यूशन का सॉल्यूशन निकालने की जद्दोजहद हो रही है। वहीं कहीं-कहीं तो चालान के लिए पुलिस और पब्लिक में भिड़ंत भी हो रही है। उधर इस मसले पर सियासत भी तेज है। देश के 11 राज्य नए मोटर व्हीकल एक्ट के खिलाफ हो गए हैं वहीं बीजेपी शासित दो राज्य गुजरात और उत्तराखंड ने नए ट्रैफिक कानून में चालान की राशि में कटौती की है। पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू नहीं करने का ऐलान किया है। न्यूज 24 के खास कार्यक्रम आमने सामने में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने न्यूज़ 24 की एडिटर-इन-चीफ अनुराधा प्रसाद से तमाम तीखे सवालों का बड़े ही बेबाकी जवाब दिया। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने कहा कि नए मोटर वाहन कानूनों के तहत भारी-भरकम जुर्माने को कम करने वाले राज्यों से उन्हें कोई समस्या नहीं है। यह उनका हक है। जुर्माने की रकम बढ़ाने का फैसला लोगों की जान बचाने के लिए लिया गया है।

Aamne Samne

राज्य सरकार चाहें तो जुर्माना घटाने का फैसला कर सकती है। यह उन पर निर्भर करता है।  साथ ही उन्होंने कहा कि जुर्माने का उद्देश्य राजस्व बढ़ाना नहीं है। हम लोगों से कोई जुर्माना नहीं वसूलना चाहते हैं। हम सड़क सफर को सुरक्षित बनाना चाहते हैं। अगर लोग परिवहन नियमों का पालन करेंगे तो उन्हें कोई रकम देने की जरूरत नहीं है। साथ ही केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी परिवहन मंत्री ने नए कानून को लागू करने का बचाव करते हुए कहा कि सख्त कानून की जरूरत इसलिए थी, क्योंकि लोग यातायात नियमों को बेहद हल्के तौर पर लेते थे। उनके जेहन में न तो कानून के प्रति खौफ था और न ही आदर।

Aamne Samne

नितिन गडकरी ने कहा, 'अभी तक कोई ऐसा राज्य नहीं है, जिसने इस एक्‍ट को लागू करने से इनकार किया हो। कोई भी राज्य इससे बाहर नहीं जा सकता। गडकरी ने इससे पहले भी ट्रैफिक फाइन बढ़ाने के फैसले का बचाव किया है। साथ ही उन्होंने बताया था कि एक बार ओवर स्पीडिंग के चक्कर में उनकी गाड़ी तक का चालान कट चुका है। केन्द्रीय मंत्री नितिन नडकरी ने न्यूज 24 से बातचीत में माना है कि ऑटो सेक्टर में मंदी है। उन्होंने एक बार फिर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की बात को दोहराते हुए कहा है कि इस सेक्टर में मंदी के कई कारण हैं जिनमें से एक ओला उबर भी है।

Aamne Samne

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की बड़ी बातें...

- सबकी सलाह से कानून बना है, कोई बदलाव नही करेंगे

- रोल बैक का सवाल ही नहीं उठता

- नियम जान की हिफाजत के लिए है, पैसे कमाने के लिए नहीं

- देश में सबसे अधिक जानें सड़क हादसे में जाती हैं

- नया कानून आने से 50% लोगों की जान बचेगी

- मैंने भी चालान भरा है

- राज्य सरकारें चाहें तो बदलाव कर सकती हैं

- बदलाव करने पर जिम्मेदारी भी उनकी होगी

- ऑटो सेक्टर में मंदी है

- सरकार उपाय कर रही है कुछ महीनों में हालात सुधर जाएंगे।

पूरा इंटरव्यू यहां देखें...