दंगल से इन दोनों बहनों को मिली असली पहचान

नई दिल्ली (27 दिसंबर): आमिर खान की दंगल बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा रही है। पहलवान महावीर फोगट और उनकी बेटियों की जिंदगी पर बनी इस फिल्म ने कमाई के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं, जिससे फिल्म के निर्माता को तो फायदा हुआ ही है लेकिन फोगट बहनों को इस फिल्म ने असली पहचान दिला दी है।


आमिर खान की दंगल ने हिन्दुस्तान का दिल जीतने के साथ ही भूली बिसरी फोगट सिस्टर्स को दिलाई है उनकी असली पहचान, जिसका उन्हें बेस्ब्री से इंतजार था। आज पूरी दुनिया जान गई है फोगट सिस्टर्स और उनके संघर्ष को। वो फोगट बहनें जिन्होंने देश को कॉमनवेल्थ समेत कई बड़े मेडल दिलाए लेकिन देश उन्हें भूल गया था।


फिल्म की कहानी पहलवान महावीर फोगट की जिंदगी पर है, जो पारिवारिक तंगी के कारण कुश्ती छोड़ देते हैं और अपना सपना पूरा करने के लिए अपनी दो बेटियों को लड़कों के साथ अखाड़े की पहलवानी में झोंक देते हैं। आमिर ने ढाई घंटे में इस संघर्ष को दिखाने की भरपूर कोशिश की है, लेकिन फोगट परिवार कहता है कि 15 साल की मेहनत दिखाने के लिए एक फिल्म काफी नहीं है।


भारतीय कुश्ती की गोल्डन गर्ल्स गीता और बबीता फोगट ने दंगल फिल्म बनाने में भी खूब मेहनत की। जिन 4 एक्ट्रेसिज ने इन दोनों बहनों का किरदारा निभाया उन्हें कुश्ती सिखाने में भी ये आगे-आगे रहीं। दंगल फिल्म में सबसे जोरदार सीन है आमिर खान और एक्ट्रेस फातिमा शेक की कुश्ती। फोगट परिवार बताता है कि ये पूरी तरह सच्ची कहानी है। वाकई बाप और बेटी में एक समय ठन गई थी और जोर आजमाइस की नौबत आ गई थी।


हालांकि इस फिल्म में गीता फोगट का संघर्ष और मेडल तक की पूरी कहानी दिखाई गई है, लेकिन महावीर फोगट का सपना अभी पूरा नहीं हुआ है। जाहिर है आमिर की फिल्म दंगल की कामयाबी के पीछे मिस्टर परफेकशनिस्ट की कलाकारी है तो साथ ही असली फोगट परिवार की वो असली कहानी भी है जिसे पूरा देश सलाम कर रहा है।

फोगट परिवार चाहता है दंगल कामयाबी के सभी रिकॉर्ड तोड़े ताकि देश और दुनिया आखिरकार उनकी असली कहानी जान सके।