पास है आधार कॉर्ड तो बिना स्मार्टफोन के करें पैमेंट, नहीं लगेगा कोई चार्ज

नई दिल्ली (24 दिसंबर): क्रिसमस के दिन केंद्र सरकार कैशलेस को बढ़ावा देने और आम आदमी की परेशानी को खत्म करने के लिए 'आधार पेमेंट ऐप' लाने वाली है। इससे प्लास्टिक कार्डों और पॉइंट ऑफ सेल मशीनों की भी जरूरत नहीं पड़ेगी।

इस ऐप से कार्ड सर्विस प्रवाइडर कंपनियों जैसे मास्टरकार्ड और वीजा को दी जाने वाली फी भी नहीं देनी होगी। इसके जरिए दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में भी व्यापारी डिजिटल पेमेंट कर सकेंगे। इसके लिए सिर्फ एक एंड्रॉइड फोन की जरूरत होगी।

ऐसे होगी पैमेंट...

- व्यापारी को आधार कैशलेस मर्चेंट ऐप डाउनलोड करना होगा और स्मार्टफोन को एक बायोमेट्रिक रीडर से कनेक्ट करना होगा। यह रीडर 2,000 रुपये में मिल जाता है।

- इसके बाद कस्टमर को ऐप में अपना आधार नंबर डालकर बैंक का चुनाव करना होगा, जिससे पेमेंट किया जाना है।

- इस ऐप में बायोमेट्रिक स्कैन पासवर्ड की तरह काम करेगा। यह ऐप किसी भी व्यक्ति द्वारा बगैर फोन के भी इस्तेमाल की जा सकता है।

- इस ऐप का निर्माण आईडीएफसी बैंक ने UIDAI और नैशनल पेमेंट डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के साथ मिलकर किया है।

- जिस भी व्यक्ति के पास आधार नंबर है वह इस ऐप के द्वारा मर्चेंट को पेमेंट कर सकता है।

- इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा कि व्यक्ति के पास कोई क्रेडिट या डेबिट कार्ड या कोई मोबाइल फोन है या नहीं।