Aadhaar Pay App लॉन्च, जानें ये जरूरी बातें

नई दिल्ली (8 मार्च): नोटबंदी के बाद सरकार देशभर ने नगदी के लेनदेन को कम करना चाहती है इसी कड़ी में सरकार ने तमाम बैंकों को 30 मार्च तक ‘आधार पे’ ऐप लॉन्च करने का निर्देश दिया है। इसकी कड़ी में IDFC Bank ने पहला आधार पे ऐप लॉन्च कर दिया है। डिजिटल पेमेंट प्लैटफॉर्म 'Aadhaar Pay' से वे लोग भी कैशलेस ट्रांजैक्शंस कर सकते हैं, जिनके पास मोबाइल फोन नहीं है।

Aadhaar Pay App से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें...

- आधार पे ऐप के जरिए भुगतान करने पर मर्चेंट्स को इसके लिए MDR नहीं देना होगा। MDR या मर्चेंट डिस्काउंट रेट बैंकों द्वारा लिया जाने वाला वह चार्ज होता है जिसे मर्चेंट्स से क्रेडिट या डेबिट कार्ड सर्विस मुहैया करवाने के बदले लिया जाता है।

- अगर किसी मर्चेंट या दुकानदार के पास यह ऐप है तो पेमेंट करने के लिए आपके पास मोबाइल होना जरूरी नहीं है।

- इसके जरिए भुगतान करने के लिए किसी पासवर्ड की जरूरत नहीं होती। यह ऐप पासवर्ड के लिए बायोमीट्रिक स्कैन इस्तेमाल करता है। ट्रांजैक्शन करने के लिए फिंगरप्रिंट्स या बायोमीट्रिक डेटा को वैलिडेट किया जाता है।

यूजर्स को पासवर्ड या ऐप की जरूरत नहीं होती है मगर उनका आधार नंबर उनके बैंक खातों से जुड़ा होना चाहिए। ऐसा होने पर ही पेमेंट की जा सकती है।

- इस ऐप को मर्चेंट्स गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। । यह ऐप अभी ऐंड्रॉयड फोन्स के लिए ही उपलब्ध है।

-फोन के साथ उन्हें एक बायोमीट्रिक स्कैनर जोड़ना होगा और उसे ऐप से लिंक करना होगा। जब किसी ग्राहक को पेमेंट करनी होगी तो उसे सिर्फ अपना आधार नंबर ऐप पर डालना होगा और उस बैंक को चुनना होगा जिसके खाते से पेमेंट करनी है। इसके बाद बायोमीट्रिक स्कैनर फिंगरप्रिंट को स्कैनर करके वेरिफिकेशन करेगा।

- डेबिट और क्रेडिट कार्ड मशीनें टेलिफोन लाइन्स के जरिए भी काम कर लेती थीं मगर इस ऐप को काम करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन का होना जरूरी है। इसी के जरिए यूजर के बायोमीट्रिक डेटा वेरिफाई होगा।

- यह ऐप सिर्फ पेमेंट्स के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। अभी इसमें फंड ट्रांसफर का कोई ऑप्शन नहीं है।

- फिलहाल इस प्लैटफॉर्म के जरिए अधिकतम 10 हजार रुपये का ही ट्रांजैक्शन किया जा सकता है।