देवभूमि में एक अलग तरह की 'समाधि'

नई दिल्ली (13 अप्रैल) :आज के समय में हम अत्यधिक भौतिकतावादी (Materialistic) होते जा रहे हैं...अधिक से अधिक भौतिक सुख जुटाने के लिए हम अमेरिका-यूरोप जैसी पश्चिमी दुनिया का रुख़ करते हैं...लेकिन कभी आपने सोचा कि पश्चिमी दुनिया के लोग हर तरह के ऐशो-आराम और भोग-विलास को देख लेने के बाद कहां आना पसंद करते हैं...वे आध्यात्मिक सुख की तलाश में पवित्र गंगा के किनारे ऋषिकेश जैसी देवभूमि पर आते हैं...कुछ ऐसी ही सोच के साथ ऋषिकश में लक्ष्मण झूला के पास एक 'कॉन्सेप्ट रेस्त्रां' खोला गया है...नाम है 'समाधि'।

 

'समाधि'  आपको वो अनुभव कराएगा जो आप से जीवन की भाग-दौड़ और आपा-धापी में कहीं पीछे छूट गया सा है। यहां हिलटॉप से ऋषिकेश का मनोरम दृश्य अलौकिक अनुभव कराएगा।

यहां वातावरण की शुद्धता, खाने का स्वाद और आतिथ्य का अपनापन, कभी ना भूलने वाला अनुभव है...यहां आप लेखन करें, पठन करें, चिंतन करे, आप कितनी देर भी बैठें, कोई आपको नहीं रोके-टोकेगा...यहां का शांत और रूहानी सुकून देने वाला माहौल वाकई अपने नाम 'समाधि' को सार्थक कर रहा है।