नवाज शऱीफ के गिने-चुने दिन बचे !

नई दिल्ली (29 सितंबर): पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक के बाद नवाज शरीफ का तख्ता पलट लगभग तय माना जा रहा है। ऐसा समझा जा रहा है कि  नवाज सरकार का तख्ता पलट बहुत जल्दी हो जायेगा।

- पांच अक्टूबर को नवाज शरीफ ने पाकिस्तानी संसद का विशेष सत्र बुलाया है और पाकिस्तानी मीडिया, पाकिस्तानी फौज और पाकिस्तान के विपक्ष दल नवाज़ शरीफ सरकार को एक दिन भी ज्यादा नहीं चलने देना चाहते।

- विपक्ष नवाज शरीफ पर पहले से ही  नाकामी और भ्रष्टाचार के आरोप लगाता रहा है। पीओके में भारतीय सेना के सर्जिकल ऑपरेशन के बाद पाकिस्तान के विपक्षी नेताओं को एक मजबूत मुद्दा दे दिया है।

- नवाज शरीफ के सामने एक के बाद एक कई चुनौतियां है। सबसे पहली चुनौती आर्मी चीफ की नियुक्ति है। ऐसा माना जा रहा है कि अब पाकिस्तान के नौकरशाह और जनता नवाज़ शरीफ को सत्ता पर ज्यादा दिन बैठने नहीं देंगे।

- सब की राय यह मानी जा रही है कि अब अगले सेना प्रमुख की नियुक्ति का फैसला भी नया प्रधानमंत्री ही ले। दरअसल, पाकिस्तान में आर्मी चीफ रहील शरीफ ने अपनी छवि मजबूत इरादों वाले ईमानदार अफसर की बना ली है।

- रहील शरीफ की रणनीति का कमाल है कि पाकिस्तान के स्कूल-कॉलेज से लेकर हॉस्पीटल तक सब सेना के हवाले है। नागरिक प्रशासन के नाम पर नवाज शरीफ सरकार सिर्फ संसद में वही बिल पास करवाते हैं जिन्हें सेना पहले से अपनी स्वीकृति दे देती है।

- कहा तो यहां तक जाता है कि नवाज शरीफ अभी तक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हैं तो उसकी एक वजह खुद जनरल रहील शरीफ ही हैं। रहील शरीफ ने पाकिस्तान का जम्हूरी चेहरा बनाये रखने के लिए नवाज शरीफ का तख्ता पलट नहीं किया है।

- इसके बदले में नवाज़ शरीफ घरेलू नीतियों से लेकर विदेश नीति भी जनरल रहील शरीफ के इशारों पर तय करते हैं।

- सरकार में जनरल रहील शरीफ की हैसियत का अंदाजा तो तभी हो गया था जब नवाज़ शरीफ सहित पूरी कैबिनेट की मीटिंग प्रधानमंत्री निवास पर न होकर जनल रहीव शरीफ के ऑफिस जीएचक्यू में हुई थी।

- इस घटना से कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान में रातों-रात जनरल रहील शरीफ के समर्थन में एक साथ कई शहरों को फ्लैक्स बोर्डों से पाट दिया गया था। पनामा पेपर लीक मामले में नवाज़ शऱीफ के फैमिल मेंबर्स के नाम का मामला पाकिस्तान की सुर्खियां पहले से है।

- विपक्ष दलों नवाज़ शरीफ के खिलाफ मुकदमा चलाये जाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिकाएं डाल रखी हैं। नवाज शरीफ की छवि पर एक धब्बा तब लगा जब वो लंदन की मार्केट में शॉपिंग करते हुए देखे गये।

- नवाज शरीफ पर आरोप है कि वो सरकारी पैसे को अपने ऐशो-आराम पर खर्च करते हैं। इतना ही नहीं जब नवाज शरीफ लंदन में शॉपिंग कर रहे तो एक महिला ने अपने मोबाइल फोन से उनकी फोटो उतार ली।

- इसको देखकर नवाज़ शरीफ का पारा चढ़ गया। उनके इशारे पर सुरक्षा गार्डों ने महिला के साथ अभद्र व्यवहार किया। कहा जा रहा है कि नवाज शरीफ के तख्ता पलट की स्क्रिप्ट तो पहले ही लिखी जा चुकी थी। भारतीय सेना के सर्जिकल ऑपरेशन ने तो ताबूत में आखिरी कील ठोंकी है।