मालिकों के दिल के हिसाब से ही चलती है पेट डॉग्स की धड़कन

नई दिल्ली (4 मई): अगर आप पेट्स के शौकीन हैं, तो आपको उनके साथ के भावनात्मक रिश्ते का जरूर एहसास होगा। आप तो उन्हें प्यार करते ही होंगे, लेकिन क्या वो भी आपसे उतना ही प्यार करते हैं? 

आप कहेंगे, बिल्कुल क्यों नहीं, हमें उनकी तरफ से वफादारी का एहसास होता है। उनके साथ रहते हुए हम इसे अच्छी तरह समझते हैं। लेकिन क्या आपके पास इसका कोई सबूत है? चलिए, आपको बता दें, वैज्ञानिकों ने अब यह सिद्ध कर दिया है कि पेट्स भी आपसे सच में बेहद प्यार करते हैं। इस बात का वैज्ञानिक सबूत भी मिल गया है।

ब्रिटिश अखबार 'द टेलीग्राफ' की रिपोर्ट के मुताबिक, वैज्ञानिकों ने पाया है कि पेट डॉग्स के दिलों की धड़कन उनके मालिक के तालमेल में चलती है। 

जी हां, एक व्यक्ति और उसके डॉग के बीच में यह रिश्ता इतना गहरा होता है, कि उनकी धड़कनों में तालमेल हो जाता है। इसके लिए एक ऑस्ट्रेलियन रिसर्चर ने तीन डॉग्स को उनके मालिकों से अलग कर दिया। इसके बाद उनकी दिलों की धड़कनों को मॉनीटर किया। इसके बाद जब उन्हें उनके मालिकों से फिर से मिलाया तब फिर से उनकी धड़कनों को मॉनीटर कर देखा। उन्होंने पाया कि अलग-अलग दर से धड़कने के बावजूद उनकी धड़कनों में एक समान पैटर्न था।

मेलबर्न की मौनाश यूनिवर्सिटी की रिसर्चर मिया कॉब ने बताया, "मैं प्रभावित थी कि वे कितना नजदीक आ जाते हैं। ये फैक्ट की वे इतनी करीबी से समान पैटर्न साझा करते हैं। इसने मुझे हैरान किया। इस तरह का प्रायोगिक असर खुशी के लिए काफी फर्क पैदा करता है। अगर हम अपने एनिमल्स के साथ घूमने के लिए अपने दिल की धड़कन कम कर सकते हैं। तो जरूर ही वह कम्यूनिटी के लिए काफी लाभ पहुंचा सकता है।"

इस स्टडी को डॉग फूड कम्पनी Pedigree ने स्पॉन्सर किया था। इसमें निष्कर्ष निकाला गया कि तनाव से छुटकारा पाने के लिए डॉग्स को पालना अच्छा साबित हो सकता है। इसके अलावा शायद यह दिल के लिए भी अच्छा हो सकता है।