News

कंगाली और आतंकवादियों को संरक्षक का टैग लिए आज राष्ट्रपति ट्रंप से मिलेंगे इमरान

कंगाली और आतंकवादियों को संरक्षक का टैग लिए आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलने वाले हैं। जानकारी के मुताबिक दोनों नेताओं की आज व्हाइट हाउस में मुलाकात होगी

Trump- Imran

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जुलाई): कंगाली और आतंकवादियों को संरक्षक का टैग लिए आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलने वाले हैं। जानकारी के मुताबिक दोनों नेताओं की आज व्हाइट हाउस में मुलाकात होगी।  इस मुलाकात के दौरान ट्रंप उन पर पाकिस्तान में चल रहे आतंकवादी समूहों के खिलाफ 'निर्णायक और स्थिर' कार्रवाई करने तथा तालिबान के साथ शांति वार्ता को लेकर दवाब बना सकते हैं। पाकिस्तान को उम्मीद है कि अमेरिका उसे आर्थिक मदद देगा। पाकिस्तानी मीडिया की मानें तो ट्रंप के साथ मुलाकात से पहले इमरान ने अमेरिका को पाकिस्तान में निवेश करने की पेशकश की है। आपको बता दें कि राष्ट्रपति बनने के बाद जब डोनाल्ड ट्रंप ने 2017 में सार्वजनिक तौर पर पाकिस्तान की आलोचना की थी तो इसके बाद दोनों देशों के रिश्ते प्रभावित हुए थे। तब ट्रंप ने पाकिस्तान पर आरोप लगाते हुए कहा था कि अमेरिका पाकिस्तान को आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए जो आर्थिक मदद देता है वह उसका सही इस्तेमाल करने की बजाय आतंकवादियों के संरक्षण के लिए करता है।

जानकारी के मुताबिक इमरान खान के एजेंडे में अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया, आतंकवादियों और उन्हें आर्थिक मदद करने वालों के खिलाफ सरकार की कार्रवाई और पाकिस्तान को अमेरिकी सैन्य सहायता बहाल करने के मुद्दे पर बातचीत होगी। अमेरिका को दिखाने के लिए पाकिस्तान ने इमरान की यात्रा से पहले आतंकी सरगना हाफीज सईद के खिलाफ कार्रवाई भी की है और उसे जेल में डाल दिया गया है। हालांकि, खान के यहां पहुंचने से पहले ट्रंप प्रशासन के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान जब तक अपने यहां आतंकवादियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई नहीं करता, उसे सैन्य सहायता निलंबित करने की अमेरिकी नीति जारी रहेगी।इमरान खान के इस दौरे से ठीक पहले अमेरिका में पाकिस्तान के पूर्व राजदूत हुसैन हक्कानी ने कहा कि इमरान का अमेरिकी दौरा वास्तविकता के लिहाज से कमजोर दौरा होगा और उनके पास ऐसा वादा करने के लिए कुछ भी नहीं है जो उन्होंने पहले ना किया हो। हक्कानी ने कहा, 'इमरान खान अमेरिका के नए राष्ट्रपति को पुराना माल बेचेंगे। उनके पास वादा करने के लिए ऐसा कुछ भी नहीं है जो उन्होंने पहले ना किया हो।'

गौरतलब है कि इमरान खान के इस दौरे को लेकर ट्रंप प्रशासन में कोई खास उत्साह नहीं दिख रहा है। अमेरिका पहुंचने पर प्रधानमंत्री इमरान खान को एयरपोर्ट पर भारी बेइज्जती का सामना करना पड़ा। मंत्री तो दूर अमेरिका का कोई अधिकारी तक उनका स्वागत करने एयरपोर्ट नहीं पहुंचा था। पहले से ही अमेरिका में मौजूद पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और राजदूत असद मजीद खान ने इमरान का स्वागत किया। बेइज्जती की हद तो तब हो गई है, जब इमरान खान को अपने ही अधिकारियों के साथ मेट्रो की यात्रा कर अपने राजदूत के आवास तक जाना पड़ा। मेट्रो में भी इनके साथ कोई अमेरिकी अधिकारी नहीं था। इमरान किसी होटल के बजाय अपने राजदूत के यहां ही ठहरे हैं। वह विशेष विमान के बजाय कतर एयरवेज की सामान्य उड़ान से यहां पहुंचे थे।


Top