News

भ्रष्टाचार के आरोप में इजराइली पीएम नेतन्याहू की बढ़ी मुश्किलें

भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। उनपर भ्रष्टाचार के आरोप आरोपित किए गए हैं। बेंजामिन नेतन्याहू को भ्रष्टाचार के तीन मामलों में रिश्वतखोरी, धोखाधड़ी और विश्वास तोड़ने के आरोपों में आरोपित किया गया है।

Benjamin Netanyahu

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (29 जनवरी): भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोपों (Charges) में घिरे इजराइल (Israel) के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (PM Benjamin Netanyahu) की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है।  प्रधानमंत्री नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के आरोप आरोपित किए गए हैं। बेंजामिन नेतन्याहू को भ्रष्टाचार के तीन मामलों में रिश्वतखोरी, धोखाधड़ी और विश्वास तोड़ने के आरोपों में आरोपित किया गया है। अटार्नी जनरल एवीचाई मांदेलबीत ने यरूशलम जिला अदालत में आरोपपत्र सौंपा। बेंजामिन नेतन्याहू इजराइल के इतिहास में प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए मुकदमे का सामना करने वाले प्रथम व्यक्ति होंगे। मुकदमें की तारीख अभी तय नहीं की गई है लेकिन कानूनी प्रक्रिया में बरसों लग सकते हैं। हालांकि अपने ऊपर आरोप तय होने से कुछ घंटे पहले ही उन्होंने अपने खिलाफ भ्रष्टाचार के तीन मामलों में संसदीय छूट के लिए अनुरोध वापस लिया था। इस तरह, वह इस पद पर रहते हुए आपराधिक आरोपों का सामना करने वाले पहले प्रधानमंत्री बन गए।

हालांकि प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि 'मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है।' नेतन्याहू ने मंगलवार को घोषणा की कि वह उनके खिलाफ चल रहे भ्रष्टाचार के तीन मामलों में मिली संसदीय छूट के अनुरोध को वापस ले रहे हैं ताकि मुद्दे पर हो रहे घटिया खेल को रोका जा सके। इसी के साथ उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही चलाने का रास्ता साफ हो गया है। बेंजामिन नेतन्याहू ने वाशिंगटन से फेसबुक पर लिखे एक पोस्ट के जरिये इसकी सूचना सभी को दी। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नेतन्याहू अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करने के लिए वाशिंगटन में हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने इस्राइल और फिलीस्तीन के बीच शांति स्थापित करने की अपनी योजना की घोषणा की।

पीएम नेतन्याहू ने अपने पोस्ट में लिखा है कि 'इजराइल के लोगों के लिए इस दुर्भाग्यपूर्ण समय में, जबकि मैं इजराइल की स्थायी सीमा को आकार देने और हमारी भावी पीढ़ियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के ऐतिहासिक मिशन पर अमेरिका में हूं, छूट के नाम पर संसद (नेसेट) में एक नया खेल शुरू होने की आशंका है।' उन्होंने लिखा कि 'चूंकि मुझे उचित प्रक्रिया से नहीं गुजरने दिया गया, क्योंकि संसद के सभी नियमों को ताक पर रखा गया और चूंकि बिना उचित चर्चा के प्रक्रिया के परिणाम पूर्व निर्धारित हैं तो मैंने फैसला लिया है कि यह गंदा खेल और नहीं चलने दूंगा।'

यह भी पढ़ें:- इजराइल के PM नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के 3 मामलों में आरोप तय

आपको बता दें कि बेंजामिन नेतन्याहू पर इस हफ्ते के अंत तक यरूशलम जिला अदालत में  आरोप तय किए जाएंगे, जब संसदीय चुनाव के असाधारण तीसरे चरण के लिए पांच हफ्ते से भी कम समय रह जाएगा। पीएम नेतन्याहू के अमेरिका दौरे की घोषणा से पहले से तय थी। शांति योजना की घोषणा के समय को लेकर इजराइल के कई विश्लेषकों ने इसकी आलोचना की है और इसे बचाव कार्यवाही से नेतन्याहू को बचाने का प्रयास बताया है।

इजराइली प्रधानमंत्री के मुख्य राजनीतिक विरोधी, ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के बेनी गैंट्ज ने कहा कि नेतन्याहू उनके खिलाफ तीन मुकदमे चलते हुए देश को नहीं चला सकते। खबरों के मुताबिक नेतन्याहू ने अपना अनुरोध संभवत : इसलिए वापस लिया है ताकि नेसेट में लगभग निश्चित हार से उन्हें शर्मिंदगी न उठानी पड़े जहां 120 सांसदों में से करीब 65 की इसके खिलाफ वोट करने की संभावना है।

(Image Credit: Google)


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top