ओडिशा के तटीय इलाकों में पहुंचा 'तितली' तूफान, कई जिलों में अलर्ट, स्कूल-कॉलेज बंद

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (11 अक्टूबर): तितली तूफान ओडिशा के गोपालपुर तट से टकरा चुका है। ओडिशा के तटीय इलाकों में 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। जिससे कई जगहों पर पेड़ भी उखड़ गए हैं। कुछ ही घंटों में तितली तूफान के आंध्र प्रदेश के तट पर पहुंचने की आशंका जताई जा रही है। आपको बता दें कि ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में NDRF की टीमों को तैनात किया गया है और ओडिशा में पहले ही करीब 3 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया गया था।

चक्रवाती तूफान 'तितली' के मद्देनजर 11 और 12 अक्टूबर को भुवनेश्वर, कटक, ढेंकनाल, संभलपुर, खुर्दा और बेरहमपुर में होने वाली रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी गई है। नई तारीख और जगह का विवरण अभ्यर्थियों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और ई-मेल पर भेज दिया जाएगा।ओडिशा सरकार ने चक्रवात के देखते हुए कुछ इलाकों में बाढ़ की चेतावनी भी जारी की है। राज्य सरकार ने सभी जिलों खासकर तटीय जिलों में हाई अलर्ट की घोषणा कर दी है।  

एनडीआरएफ की 14 टीमों के ओडिशा के बालासोर, संभलपुर, गजापति, नायागढ़, पुरी, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, गंजम और भुवनेश्वर में तैनात किया गया है। एनडीआरएफ की चार टीमों को आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम, श्रीकाकुलम और विजयनगरम में तैनात किया गया है।मौसम विभाग ने कहा कि ओडिशा के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगापत्तनम के बीच गुरुवार तड़के भूस्खलन होने की संभावना है। अगले 18 घंटों में गुरुवार तड़के तक इसके बहुत गंभीर स्तर पर पहुंचने की भी संभावना है। विशेष राहत आयुक्त विशुनपाड़ा सेठी ने जिलों को ज्यादा से ज्यादा लोग रखने के लिए 836 बहुद्देशीय शिविरों को तैयार रखने के निर्देश दिए हैं।