VIDEO: मुज़फ़्फ़रपुर की SSP हरप्रीत ने किया दावा, बंद के दौरान सांसद पप्पू यादव की नहीं हुई पिटाई

अमिताभ ओझा, न्यूज 24 ब्यूरो, मुज्जफरपुर (7 सितंबर): चर्चा में बने रहने के लिए कुछ भी करने को तैयार पप्पू यादव ने भारत बंद के दौरान क्या खुद पर हमले की फर्जी कहानी गढ़ ली? पप्पू ने न सिर्फ झूठी कहानी गढ़ी बल्कि घड़ियालों को भी मात कर देने के अंदाज में आंसू भी बहाये? घटनास्थल के वीडियो से ऐसी ही कहानी सामने आ रही है। पप्पू यादव के रोने का वीडियो सामने आने के बाद मुज़फ़्फ़रपुर की एसएसपी हरप्रीत कौर ने यह वीडियो मुज़फ़्फ़रपुर पुलिस के वाट्सएप ग्रुप में शेयर करते हुए लिखा है कि वीडियो को देखने से तो नही लगता है की सांसद के साथ पिटाई हुई है।

बता दें कि भारत बंद के दौरान अपनी गाड़ी रोकने वाले लोगों के साथ पप्पू यादव ने खूब बातचीत की। वीडियो में पप्पू यादव बड़े आराम से बात करते दिख रहे हैं। सड़क जाम कर रहे आंदोलनकारी उनसे अपनी मांगों का समर्थन करने की अपील करते भी दिख रहे हैं। लेकिन जाम से निकलते ही पप्पू यादव का सामना मीडियावालों से हुआ और फिर वे फूटफूट कर रोये। दोनों वीडियो देखिये और खुद तय कीजिये कि पप्पू कितना सच बोल रहे हैं।

आपको बता दें कि कल भारत बंद के दौरान बाहुबली की पहचान रखने वाली पप्पू यादव फूट- फूट कर रोए थे। मीडिया के कमरे पर रुंधे गले से आपबीती भी सुनाई। दरअसल बकौल पप्पू यादव मुजफ्फरपुर जाने के क्रम में भारत बंद करा रहे समर्थकों ने उनका काफिला रोक लिया। साथ ही पप्पू यादव ने कहा था कि मुजफ्फरपुर के पहले खबड़ा के पास असामजिक तत्वों ने उनकी गाड़ी रोककर उसपर हमला किया। पप्पू के मुताबिक अगर सीआरपीएफ के जवान उनके साथ नहीं होते तो उनकी हत्या हो जाती। लेकिन नया वीडियो सामने आने के बाद लोगों ने पप्पू यादव पर गंभीर आरोप लगाना शुरू कर दिया है।

अब जरा देखिये सांसद पप्पू यादव की इस नौटंकी पर मुज़फ़्फ़रपुर की एसएसपी हरप्रीत कौर ने लिखा है कि इस वीडियो में कहीं पर भी पप्पू यादव के साथ मारपीट होती हुई नहीं दिखाई दे रही है। हरप्रीत ने लिखा है कि वो नेशनल हाइवे पर जाना चाहते थे। उस दौरान धरना कर रहे लोगों ने पप्पू को वापस जाने के लिए कहा। इस वीडियो में पप्पू यादव धरना प्रदर्शनकारियों के बीच में खड़ दिखाई दिए।

एसएसपी हरप्रीत ने लिखती हैं कि जब इस पूरी घटना का वीडियो बन सकता है तो उनकी पिटाई वाला वीडियो भी बन सकता था। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी लिखा कि ऐसी कोई भी फोटो या वीडियो नहीं है जिसमें उनकी गाड़ी के शीशे फूटे हुए दिखाई दे रहे हों। पप्पू यादव ने दावा किया था कि उनके साथ मारपीट के दौरान उनका मोबाइल भी फूट गया था। तो उन्हें अपने मोबाइल को मीडिया को दिखाना चाहिए। इतना ही नहीं आपको जानकारी के लिए बता दें कि उन्होंने अब तक पुलिस में कोई भी शिकायत दर्ज नहीं कराई है।