News

दुती चंद ने किया खुलासा, गांव की एक लड़की से है समलैंगिक रिलेशन

भारत की सबसे तेज महिला धावक दुती चंद ने बढ़ा खुलासा किया है। दुती ने कहा कि उनका गांव की ही एक लड़की से समलैंगिक रिश्ते हैं। बता दें कि दुती 2018 एशियन गेम्स में दो सिल्वर मेडल भी जीत चुकी हैं और साथ ही 100 मीटर का रिकॉर्ड भी उनके नाम हैं। उन्होने समलैंगिक रिश्ते होने की बात कबूली है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 मई): भारत की सबसे तेज महिला धावक दुती चंद ने बढ़ा खुलासा किया है। दुती ने कहा कि उनका गांव की ही एक लड़की से समलैंगिक रिश्ते हैं। बता दें कि दुती 2018 एशियन गेम्स में दो सिल्वर मेडल भी जीत चुकी हैं और साथ ही 100 मीटर का रिकॉर्ड भी उनके नाम हैं। उन्होने समलैंगिक रिश्ते होने की बात कबूली है। 23 साल की दुती चंद ने अपने पार्टनर की पहचान सार्वजनिक नहीं की है। उनके मुताबिक, वह नहीं चाहतीं कि उनकी पार्टनर ‘फिजूल में लोगों के आकर्षण’ का केंद्र बने।

दुती चंद फिलहाल विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं और टोक्यो ओलंपिक में क्वालिफाई करने के लिए जमकर पसीना बहा रही हैं। एक इंटरव्यू में उन्होने कहा कि ‘मुझे कोई ऐसा मिल गया है जो मुझे जान से प्यारा है। मुझे लगता है कि हर किसी को इस बात की आजादी होनी चाहिए कि वह किसके साथ रहना चाहता है। मैंने हमेशा उन लोगों के अधिकारों की पैरवी की है जो समलैंगिक रिश्तों में रहना चाहते हैं। यह किसी व्यक्ति विशेष की अपनी इच्छा है। फिलहाल मेरा फोकस वर्ल्ड चैंपियनशिप और ओलंपिक खेलों पर है, लेकिन भविष्य में मैं उसके साथ रहना चाहूंगीं। दुती चंद ने कहा कि उन्होंने एलजीबीटी समुदाय के अधिकारों के लिए आवाज उठाने के लिए उस वक्त हिम्मत जुटाई, जब पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए आईपीसी के सेक्शन 377 को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया।

बता दें कि भारत में भले ही एलजीबीटी शादियों को मान्यता न दी गई हो, लेकिन समान लिंग के लोगों के साथ रहने के खिलाफ कोई कानून नहीं है। पिछले साल सितंबर में सुप्रीम कोर्ट ने 158 साल पुराने ब्रिटिशकालीन कानून को दरकिनार करते हुए समलैंगिक संबंधों को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया था। दुती ने कहा कि उनका सपना था कि कोई ऐसा मिले जो उसके पूरे जीवन का साथी बने। उन्होंने कहा, ‘मैं किसी ऐसे के साथ रहना चाहती थी, जो मुझे बतौर खिलाड़ी प्रेरित करे। मैं बीते 10 साल से धावक हूं और अगले 5 से 7 साल तक दौड़ती रहूंगी। मैं प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने पूरी दुनिया घूमती हूं। यह आसान नहीं है। मुझे किसी का सहारा भी चाहिए।’


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top