News

जब धोनी ने भारतीय टीम में रखा था कदम तो पहली बाॅल पर ठोके थे इतने रन

23 दिसंबर का दिन भारतीय क्रिकेट जगत के लिए कभी नहीं भूलने वाला है, क्योंकि यह वो दिन था जब टीम इंडिया को दो वर्ल्ड कप जिताने वाला कप्तान मिला, उस कप्तान का नाम था महेंद्र सिंह धोनी।

dhoni

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(12 सितंबर): 23 दिसंबर का दिन भारतीय क्रिकेट जगत के लिए कभी नहीं भूलने वाला है, क्योंकि यह वो दिन था जब टीम इंडिया को दो वर्ल्ड कप जिताने वाला कप्तान मिला, उस कप्तान का नाम था महेंद्र सिंह धोनी। धोनी ने आज से 15 साल पहले 23 दिसंबर 2004 को इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था। धोनी ने टीम इंडिया में इंट्री विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में की थी, मगर बहुत जल्द भारतीय टीम के कप्तान बन गए। इस दौरान माही ने न सिर्फ दिमाग से बल्कि बल्ले से भी बेहतरीन खेल दिखाया।

पहली गेंद पर बनाए इतने रन

धोनी को दुनिया का बेस्ट फिनिशर भी कहा जाता है मगर उनका डेब्यू मैच कैसा रहा था, आइए यह भी जान लेते हैं। क्रिकइन्फो पर मौजूद डेटा के मुताबिक, माही ने 23 दिसंबर को बांग्लादेश के खिलाफ चिटगांव में वनडे डेब्यू किया। इस मैच में धोनी सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए। उस वक्त भारत का स्कोर 5 विकेट पर 180 रन था। धोनी ने पहली गेंद खेली और रन के लिए भागे मगर दूसरे छोर पर खड़े बल्लेबाज ने एमएस को मना कर दिया मगर तब तक धोनी आधी क्रीज तक आ चुके थे। वह जब तक वापस क्रीज पर लौटे, विकेट की गिल्लियां उड़ चुकी थीं। इस तरह धोनी का ड्रीम डेब्यू किसी बुरे सपने जैसा रहा और डेब्यू मैच में वह बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए।डेब्यू मैच में पूरी तरह से फ्लाॅप हो चुके धोनी अगली चार पारियों में भी कुछ खास रन नहीं बना पाए थे। एेसे में उनके टीम में इंट्री को लेकर सवाल खड़े होने लगे मगर माही ने इन सवालों का करारा जवाब पांचवीं पारी में दिया। 5 अप्रैल 2005 को धोनी पाकिस्तान के खिलाफ विशाखापत्तनम में वनडे खेलने उतरे। इस बार माही ने पहले वाली गलती नहीं दोहरार्इ। इस मैच में सचिन आैर गांगुली जैसे धुरंधर फेल हो गए फिर तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए एमएस धोनी। तब धोनी ने 123 गेंदों में 148 रन बनाए, जिसमें 15 चौके आैर 4 छक्के लगाए। यह पहला मैच था जिसे धोनी ने अपने दम पर जिताया। इसके बाद तो मानों वे रुके ही नहीं।

भारत को दो बार जितवाया वर्ल्ड कप

37 साल के हो चुके धोनी ने 332 वनडे मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 50.11 की आैसत से 10,173 रन बनाए। इसमें 10 शतक आैर 67 अर्धशतक शामिल हैं। माही ने टीम इंडिया की लंबे समय तक कप्तानी की। धोनी की कप्तानी में भारत ने साल 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप आैर 2011 में 50 आेवर का वर्ल्ड कप जीता था।

वहीं, एमएस धोनी को सीमित आेवरों का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़री माना जाता है मगर टेस्ट क्रिकेट में वह ज्यादा नाम नहीं कमा पाए। धोनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट खेले जिसमें उन्होंने 38.09 की आैसत से 4876 रन बनाए। इस दौरान धोनी के बल्ले से 6 शतक आैर 33 अर्धशतक निकले। यही नहीं साल 2014 में धोनी ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top