News

टी-20 से संन्यास लेंगे महेंद्र सिंह धोनी ?

वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को नहीं चुना गया है। जिसके बाद लोगों को यह भरोसा दिलाया गया कि धोनी को आराम दिया गया है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह खुलासा हुआ है कि धोनी को ड्रॉप किया गया है। एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा, 'सेलेक्शन मीटिंग से पहले सेलेक्टर्स ने टीम मैनेजमेंट के जरिए से धोनी को सूचित कर दिया था, कि उन्हें ड्रॉप किया जा रहा है।'

                                                                                          Image credit: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (28 अक्टूबर): वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को नहीं चुना गया है। जिसके बाद लोगों को यह भरोसा दिलाया गया कि धोनी को आराम दिया गया है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह खुलासा हुआ है कि धोनी को ड्रॉप किया गया है।

एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा, 'सेलेक्शन मीटिंग से पहले सेलेक्टर्स ने टीम मैनेजमेंट के जरिए से धोनी को सूचित कर दिया था, कि उन्हें ड्रॉप किया जा रहा है।'

बीसीसीआई के सूत्र ने कहा, 'धोनी का अब टी-20 क्रिकेट में खेलना काफी मुश्किल है, लेकिन वह फिलहाल वनडे क्रिकेट में टीम का हिस्सा रहेंगे। उन्होंने कहा, 'यह तय है कि ऑस्ट्रेलिया में साल 2020 में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में धोनी नहीं खेलेंगे जिसके बाद उन्हें टी-20 टीम में बनाए रखने का कोई कारण नजर नहीं आया।'

                                                                                          Image credit: Google 

भारत की टी-20 टीम से बाहर होने के बाद संभवत: क्रिकेट का यह महासमर आखिरी मौका होगा जब कभी ‘कैप्टन कूल ’ तो कभी ‘मुकद्दर के सिकंदर’ जैसी उपमाओं से नवाजे गए इस दिग्गज को आखिरी बार हम टीम इंडिया की जर्सी में देखेंगे।

राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने उन्हें सीमित ओवरों के दो में से एक प्रारूप में बाहर करके पहले संकेत दे दिए हैं। बीसीसीआई के एक आला अधिकारी ने कहा ,‘यह तय है कि ऑस्ट्रेलिया में 2020 में होने वाला टी-20 विश्व कप धोनी नहीं खेलेंगे, लिहाजा उन्हें टीम में बनाए रखने का कोई औचित्य नहीं था।’

उन्होंने कहा,‘चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन ने इस पर काफी बात की है। विराट कोहली और रोहित शर्मा भी चयन समिति की बैठक में मौजूद थे।’ उन्होंने कहा ,‘क्या आपको लगता है कि उनकी रजामंदी के बिना चयनकर्ता यह फैसला ले सकते थे।’

                                                                                          Image credit: Google 

धोनी ने 2018 में सात टी-20 मैच खेले और उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 28 गेंदों में नाबाद 52 रनों की रही। बाकी छह पारियों में उन्होंने 51 गेंदों में 71 रन बनाए।  धोनी को अगले दो महीने तक मैच अभ्यास भी नहीं मिल सकेगा, क्योंकि भारत अगले वनडे जनवरी से मार्च के बीच खेलेगा। चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद विकेटकीपर के रूप में दूसरे विकल्प पर बात कर चुके हें और ऋषभ पंत पर टीम प्रबंधन ने भरोसा जताया है।

वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के बाद धोनी को घरेलू वनडे मैच भी खेलने को नहीं मिलेंगे। विजय हजारे ट्रॉफी और देवधर ट्रॉफी टूर्नामेंट खत्म हो चुके हैं। भारत के एक पूर्व खिलाड़ी ने कहा ,‘यदि पंत अच्छा खेलता है और धोनी का खराब फॉर्म बरकरार रहता है तो क्या उसे विश्व कप टीम में रखा जाएगा, किस आधार पर।’ धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने या सीमित ओवरों में कप्तानी छोड़ने का फैसला भले ही अचानक लिया हो, लेकिन उन्हें करीब से जानने वालों को पता है कि इसके पीछे कितना सोच विचार किया गया होगा।  


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top