अगर ईरान से भारत को तेल नहीं लेने देंगे ट्रंप तो सऊदी अरब करेगा भरपाई


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 अक्टूबर): 
अमेरिका के ईरान पर लगाए जाने वाले प्रतिबंध के बीच सऊदी अरब के एनर्जी मंत्री खालिद अल फलीह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात में भरोसा दिलाया है कि भारत के मांग के मुताबिक तेल की सप्लाई में कोई परेशानी नहीं होने देगा। सूत्रों ने बताया कि नवंबर में सऊदी अरब की तरफ से भारत को तेल की अतिरिक्त सप्लाई दी जाएगी। भारत अभी तक सऊदी अरब से औसतन हर महीने करीब 2.5 करोड़ बैरल तेल का आयात करता है।

बता दें कि इसी दौरान 4 नवंबर से पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन ओपेक में उत्पादन क्षमता के हिसाब से तीसरे नंबर पर मौजूद ईरान के ऊपर अमेरिकी प्रतिबंध लागू होने हैं, जिसके चलते भारत को उससे तेल आयात बंद करना था। चीन के बाद ईरान से भारत ही सबसे ज्यादा तेल खरीदता है।

ऐसे में भारत के ईरान से तेल खरीदते रहने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की इस खाड़ी देश पर दबाव बनाने और उसकी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने की योजना सफल नहीं हो सकती है। इसके चलते अमेरिका ने भारत पर ईरान से सप्लाई रोकने का दबाव बनाया हुआ है, लेकिन भारत अपने यहां तेल के रोजाना बढ़ते दामों के कारण सप्लाई रोकने पर राजी होता नहीं दिख रहा था। इसके चलते अमेरिका ने सऊदी अरब पर भारत के लिए अतिरिक्त उत्पादन करने का दबाव बना रखा था।


इससे पहले खबर आई थी कि सऊदी भारत को महज 40 लाख बैरल देगा, जो उसके लिए नाकाफी है। सूत्रों ने बताया कि सऊदी अरब की तरफ से नवंबर में भारत की चारों मुख्य तेल रिफाइनरियों रिलायंस इंडस्ट्रीज, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम और मंगलूरू रिफाइनरी पेट्रोकेमिकल्स में से हर एक को 10 लाख बैरल अतिरिक्त तेल की सप्लाई की जाएगी। हालांकि इसके बावजूद तेल की कमी बनी रहेगी, क्योंकि भारतीय रिफाइनरियों ने नवंबर के लिए ईरान से 90 लाख बैरल तेल का सौदा किया हुआ था।