भारतीय रिजर्व बैंक ने इलाहाबाद बैंक पर लगाई बड़ी पाबंदी

नई दिल्ली (14 मई): बैंकों के बढ़ते एनपीए के मद्देनजर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया बेहद सख्त नजर आ रहा है। देना बैंक के बाद अब RBI ने इलाहाबाद बैंक पर जोखिम वाले क्षेत्रों को ऋण देने और ऊंची लागत की जमा जुटाने पर पाबंदी लगा दिया है। रिजर्व बैंक ने यह कदम त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई करते हुए उठाया है।इलाहाबाद बैंक की ओर से शेयर बाजार को दी जानकारी के मुताबिक रिजर्व बैंक ने बैंक के पूंजी पर्याप्तता अनुपात और कर्ज अनुपात की स्थिति को देखते हुए यह अतिरिक्त कदम उठाया है। आपको बात दें कि रिजर्व बैंक ने इलाहाबाद बैंक को इससे पहले उच्च जोखिम वाले कर्ज में कमी लाने और ऐसी परिसंपत्तियों को कर्ज देने से बचने की सलाह दे चुका है।इसी बीच सरकार ने आज कहा कि उसने बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक ऊषा अनंतसुब्रहमण्यम को पद से हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। उन पर यह कार्रवाई सीबीआई द्वारा उनके खिलाफ पहला आरोपपत्र दायर करने के बाद शुरु की गई है। उल्लेखनीय है कि यह आरोपपत्र पीएनबी में हुए 13,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में दायर किया गया है। उनके खिलाफ इस कार्रवाई को इलाहाबाद बैंक का निदेशक मंडल अंजाम देगा। ऊषा पिछले साल पांच मई तक पीएनबी की प्रबंध निदेशक थीं।