अयोध्या में मंदिर था, है और रहेगा: योगी आदित्यनाथ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (7 नवंबर): राम मंदिर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा बयान दिया है। योगी ने कहा कि अयोध्या में मंदिर था, मंदिर है और मंदिर रहेगा। राम मंदिर के भव्य स्वरूप के लिए सरकार प्रयास कर रही है और इसका हल जरूर निकलेगा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के लिए हर विकल्प खुला है।

इसी के साथ योगी ने राम मंदिर पर कानूनी अड़चनों को देखते हुए अयोध्या में भगवान राम की एक विशाल मूर्ति बनाने का ऐलान किया। हालांकि 151 मीटर ऊंची राम की प्रतिमा स्थापित करने की खबरें पहले से ही आ रही थीं, बुधवार को CM ने इसकी पुष्टि कर दी।  संतों द्वारा मंदिर को लेकर दबाव बनाए जाने के बीच मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी संत उनके साथ हैं।  

'मंदिर था, है और रहेगा'
दीपोत्सव के भव्य आयोजन और सरयू तट पर तीन लाख से ज्यादा दीप जलाकर विश्व रेकॉर्ड स्थापित करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या को विकास की भेंट दी तो वहीं, बुधवार को मंदिर मुद्दे पर बात की। सीएम ने कहा कि इसमें कोई संशय नहीं है कि वहां मंदिर था, है और रहेगा। उन्होंने कहा कि भव्य मंदिर निर्माण के लिए जल्द ही निर्णय आएगा और संवैधानिक दायरे में रहकर राम मंदिर निर्माण होगा। बता दें कि सीएम ने मंगलवार को आयोजन के दौरान फैजाबाद का नाम अयोध्या करने के साथ ही एयरपोर्ट और मेडिकल कॉलेज बनवाने का ऐलान भी किया।

'संवैधानिक दायरे में समाधान'
बुधवार को सीएम योगी ने कहा कि अगले कुछ वर्षों में अयोध्या बेहतरीन नगरी के रूप में विकसित की जाएगी। सीएम ने संतों से मुलाकात के बाद कहा, 'अयोध्या में राम लला का दर्शन करने ही लोग आते हैं। इसमें कोई भी संशय नहीं है कि मंदिर था, है और रहेगा।' उन्होंने कहा कि मंदिर को केवल भव्य स्वरूप देने की मांग है और इस दिशा में सरकार सकारात्मक प्रयास कर रही है। भारत के संवैधानिक दायरे में रहकर समाधान होगा।'