भारत को दहलाने आया था गाजी, सेना ने किया दफन

Photo: Google 


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 फरवरी): सुरक्षाबलों ने पुलवामा आतंकी हमले का बदला लेते हुए आतंकी गाजी को जमीन के नीचे दफन कर दिया है। यह वही गाजी है जो पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं के इशारे पर भारत को दहलाने की साजिश रचने के लिए लाया था। पुलवामा हमले के मास्टरमांइड गाजी के बारे में सुरक्षाबलों को रात में पता चला, जिसके बाद सर्च ऑपरेशन चला गया और 11 घंटे तक मुठभेड़ के बाद उसे मार गिराया गया।

हालांक‍ि मीडिया में यह भी खबर आ रही है कि गाजी के साथ-साथ सुरक्षाबलों ने आतंकी कामरान को भी मार गिराया गया है, लेकिन इस बारे में आधिकारिक पुष्टि होना बाकी है। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबल के 4 जवान शहीद हो गए, इनमें एक मेजर रैंक का अफसर भी शामिल है। शहीद हुए जवानों में मेजर डीएस डोंडीयाल, हेड कॉन्स्टेबल सेव राम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरी सिंग हैं। इस ऑपरेशन को 55RR, CRPF और SOG के जवानों ने मिलकर चलाया। लंबे समय तक चली फायिरंग के बाद सुरक्षाबलों ने इमारत को ब्लास्ट कराकर गिराया और इन आतंकियों को मार गिराया।

सूत्रों के मुताबिक़, आतंकी गाजी एक घर के अंदर छिप कर लगातार फायरिंग कर रहा था। सेना ने उसे घेरा और जमकर फायरिंग की। जैश-ए-मोहम्मद ने अपने टॉप कमांडर और आईईडी एक्सपर्ट गाजी रशीद को कश्मीर भेजा। गाजी कथित तौर पर घुसपैठ कर दक्षिणी कश्मीर पहुंचने में सफल रहा था और उसे भारत में कई बड़े हमले करने का आदेश दिया गया था।

कौन है गाजी

जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर गाजी राशिद अफगानिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आया था। गाजी ने 2008 में जैश-ए-मोहम्मद ज्वाइन किया और तालिबान में ट्रेनिंग ली थी। 2010 में वह उत्तरी वजीरिस्तान आ गया था।  कुछ ही समय बाद उसने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के इलाके में युवा लड़ाकों को ट्रेनिंग करनी शुरू दी थी। इसने ही पुलवामा हमले की साजिश रची और आदिल अहमद डार ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था।