Blog single photo

करतारपुर साहब में पाक ने दिखाया नापाक चेहरा, पासपोर्ट के बाद अब जजिया भी किया जरूरी

कश्मीर में अपनी कायर करतूतों से बाज न आने वाले पाकिस्तान अब करतारपुर कॉरिडोर पर भी नापाक चेहरा दिखा दिया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने दो वादे सार्वजनिक तौर पर किये थे। पहला यह था कि करतारपुर साहिब दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की आवश्यकता नहीं होगी और दूसरा यह कि उद्घाटन के दिन किसी भी श्रद्धालु से जजिया (एंट्री फीस) नहीं वसूली जायेगी।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (8 नवंबर): कश्मीर में अपनी गंदी और कायर करतूतों से बाज न आने वाले पाकिस्तान अब करतारपुर कॉरिडोर पर भी नापाक चेहरा दिखा दिया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने दो वादे सार्वजनिक तौर पर किये थे। पहला यह था कि करतारपुर साहिब दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की आवश्यकता नहीं होगी और दूसरा यह कि उद्घाटन के दिन किसी भी श्रद्धालु से जजिया (एंट्री फीस) नहीं वसूली जायेगी।

पाकिस्तान इन दोनों ही वायदों से मुकर गया है। इसके अलावा पाकिस्तान ने वायदा किया था कि करतारपुर साहब में किसी भी खालिस्तानी गतिविधि या भारत को लज्जित करने के नजरिए कोई भी हरकत नहीं की जायेगी। मगर पाकिस्तान ने करतारपुर साहब गुरुद्वारा में ऐसी फिल्मी और पोस्टर लगायें हैं जो आपत्ति जनक हैं।ऐसा भी कहा जा रहा है कि पाकिस्तान को इमरान खान नहीं बल्कि पाकिस्तानी फौज चला रही है। क्यों कि इमरान के सभी फैसलों को पाकिस्तानी फौज ने पलट दिया है। पासपोर्ट की अनिवार्यात के साथ ही पाकिस्तान ने अब कहा है कि वह 9 नवंबर को करतारपुर गुरुद्वारे के दर्शन के लिए आने वाले पहले जत्थे से भी 20 डॉलर की फीस वसूलेगा। इससे पहले पाकिस्तान ने 20 डॉलर फीस वसूलने की बात कही थी, लेकिन कॉरिडोर के उद्घाटन के दिन यानी 9 नवंबर को छूट का ऐलान किया था। खुद पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने यह ऐलान किया था, लेकिन अब भी से पाकिस्तान रुख से पलटा है।

इससे पहले 7 नवंबर को उसने पासपोर्ट जरूरी न होने की बात से भी पलटी खाई थी। पाकिस्तान की ओर से सेना ने कहा कि हम सुरक्षा कारणों से पासपोर्ट में छूट नहीं दे सकते हैं। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा था कि हम अपनी संप्रभुता और सुरक्षा से समझौता नहीं कर सकते।

गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था की करतारपुर साहिब जाने वाले भारतीय श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट जरूरी होगा। कुमार ने कहा, 'पाकिस्तान की तरफ से विरोधाभासी रिपोर्ट्स आ रही हैं। कभी वे कहते हैं कि पासपोर्ट जरूरी है तो कभी कहते हैं कि यह जरूरी नहीं है। हम समझते हैं कि उनके विदेश विभाग और दूसरी एजेंसियों के बीच मतभेद हैं। हमारे पास एमओयू है और वह बदला नहीं है। उसके मुताबिक पासपोर्ट जरूरी है।

Images Courtesy: Google

Tags :

NEXT STORY
Top