रूस पहुंचे मोदी, पुतिन से इन 6 मुद्दों पर होगी बात

नई दिल्ली (21 मई): ब्लादिमीर पुतिन और नरेंद्र मोदी भारत और रूस की दोस्ती की एक नई इबारत लिखने के लिए साथ-साथ नजर आने वाले हैं। रूस के सोची शहर में आज दोनों की अनौपचारिक मुलाकात होगी। इससे पहले पीएम मोदी चीन के वुहान शहर में पिछले महीने ही वहां के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ भी अनौपचारिक बैठक कर चुके हैं। लिहाजा अब रूस के राष्ट्रपति के साथ उनकी इसी तरह की बैठक को बेहद अहम माना जा रहा है।चौथी बार रूस के राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद पुतिन की पीएम मोदी से होने वाली ये मुलाकात उनकी हाई प्रोफाइल शुरुआती मुलाकातों में से एक है। दोनों की इस साल सितंबर-अक्टूबर के महीने में दिल्ली में मुलाकात होनी थी, लेकिन एक बार फिर राष्ट्रपति चुने जाने के महज दो हफ्ते के अंदर पुतिन के खुद पीएम मोदी को न्योता दिए जाने के बाद सोची में दोनों का मिलना तय हुआ।1: मोदी-पुतिन के बीच होने वाली बातचीत के मुद्दों में अमेरिका का ईरान के साथ परमाणु करार से पीछे हटना अहम होगा। अमेरिका का कहना है कि परमाणु समझौते के बाद जिन-जिन देशों ने ईरान से रिश्ते बनाएं हैं वो उसे तोड़ लें। उसके इस रुख से कई देश बौखलाये हुए हैं। लिहाजा इस मुद्दे पर मंथन कर मोदी और पुतिन अपनी रणनीति तय कर सकते हैं।2: इसके अलावा दोनों के बीच होने वाली बातचीत में अमेरिका और उत्तर कोरिया में परमाणु कार्यक्रम के मुद्दे पर तनातनी।3: उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच बनते-बिगड़ते रिश्ते।4: अफगानिस्तान और सीरिया के हालात पर चर्चा5: एटमी डील, एनर्जी के मुद्दे भी बातचीत का हिस्सा होंगे।6: इन सबके अलावा आतंकवाद अहम मुद्दा रहेगा, जिससे रूस और भारत दोनों ही पीड़ित हैं।दोनों नेताओं के बीच होने वाली ये अनौपचारिक बैठक रूस और भारत दोनों देशों के बीच की केमिस्ट्री के लिए बहुत अच्छा मौका माना जा रहा है। सरन के मुताबिक दोपहर 1 बजे पुतिन मोदी के साथ लंच करेंगे। इसके बाद वे कुछ घंटों तक एक साथ रहकर अहम मुद्दों पर चर्चा करेंगे।