#BiharManthan: बिहार में नीतीश और देश में मोदी हैं NDA का चेहरा- राजीव रंजन

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 अप्रैल): लोकसभा चुनाव 2019 के तीन चरण पूरे हो चुके है और चार चरण अभी बाकी है। बिहार में लोकसभा की 40 सीटें है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि दिल्ली का रास्ता कहीं न कहीं बिहार के रास्ते से होकर गुजरेगा। लोकसभा चुनाव के पहले, दूसरे और तीसरे चरण में बिहार की कुल 14 सीटों पर मतदान हो चुका है और अब 26 सीटों पर वोटिंग होनी अभी बाकी है। इस बीच आपका पसंदीदा चैनल न्यूज़ 24 पटना में आज 'चुनाव मंथन बिहार' का आयोजन कर रहा है। इस कार्यक्रम में बिहार की राजनीति के बड़े-बड़े दिग्गज अलग-अलग सत्रों में चर्चा करने के लिए शामिल हो रहे हैं और सूबे की सियासत के सभी दिग्गज नेता 'चुनाव मंथन बिहार' कार्यक्रम में अपनी-अपनी राय रख रहे हैं।

न्यूज 24 के खास कार्यक्रम बिहार मंथन में जेडीयू नेता राजीव रंजन शामिल हुए और उन्होंने एकबार फिर केंद्र में एनडीए सरकार बनने का दावा किया। उन्होंने कहा कि देश राहुल गांधी को अपना नेता नहीं मानता है और बिहार में कांग्रेस आरजेडी के डूबती नाव में सवार है। साथ ही उन्होंने कहा कि गठबंधन के नेता भी भी राहुल गांधी को अपना नेता नहीं मानते हैं। उन्होंने कहा कि 2019 के आम चुनाव में देश में प्रधानमंत्री मोदी चेहरा है और बिहार में नीतीश कुमार एनडीए का चेहरा हैं। लगे हाथों जेडीयू नेता ने लालू यादव की जेल में सुरक्षा को लेकर उठाए जा रहे सवाल को इमोशनल ब्लैकमेलिंग करार दिया। उन्होंने कहा कि झारखंड की जेल में लालू यादव को कोई खतरा नहीं है और उन्हें समुचित सुरक्षा दी गई है।

राजीव रंजन की बड़ी बातें...राहुल गांधी के देश अपना नेता नहीं मानताबिहार में नीतीश कुमार सबसे बड़े नेता हैंकांग्रेस आरजेडी के डूबती नाव में सवार हैराहुल को गठबंधन अपना नेता नहीं मानता हैपीएम मोदी ने दुनिया में देश को अलग पहचान दी हैशराब बंदी से बिहार में व्यापक बदलाव आया हैनीतीश कुमार के शराबबंदी के फैसले से बिहार की महिलाएं खुश हैंझारखंड की जेल में लालू यादव को कोई खतरा नहींझारखंड में लालू यादव की समूचित सुरक्षा की गई हैराबड़ी देवी लालू यादव के नाम पर इमोशनल ब्लैकमेलिंग कर रही हैंबिहार की सभी 40 सीटों पर नीतीश कुमार चेहरा हैंबिहार में मोदी-नीतीश की जोड़ी के सामने चुनाव से पहले ही विपक्ष धराशायी हो गया हैनीतीश कुमार ने 14 सालों में बिहार को बदला है।