#BiharManthan: क्या कह रही है बिहार की सियासी हवा, न्यूज़ 24 पर आज दिनभर देखिये सियासत के दिग्गजों के साथ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 अप्रैल): लोकसभा चुनाव 2019 के तीन चरण पूरे हो चुके है और चार चरण अभी बाकी है। बिहार में लोकसभा की 40 सीटें है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि दिल्ली का रास्ता कहीं न कहीं बिहार के रास्ते से होकर गुजरेगा। लोकसभा चुनाव के पहले, दूसरे और तीसरे चरण में बिहार की कुल 14 सीटों पर मतदान हो चुका है और अब 26 सीटों पर वोटिंग होनी अभी बाकी है। इस बीच आपका पसंदीदा चैनल न्यूज़ 24 पटना में आज 'चुनाव मंथन बिहार' का आयोजन कर रहा है। इस कार्यक्रम में बिहार की राजनीति के बड़े-बड़े दिग्गज अलग-अलग सत्रों में चर्चा करने के लिए शामिल होंगे। सूबे की सियासत के सभी दिग्गज नेता 'चुनाव मंथन बिहार' कार्यक्रम में अपनी राय रखेंगे। इस कार्यक्रम में न्यूज़ 24 देश के कर्णधारों से यह जानने की कोशिश करेगा कि आखिरकार प्रदेश की जनता उन्हें क्यों वोट दें। 

हर बार की तरह न्यूज 24, चुनाव मंथन बिहार के जरिए यह भी जानना चाहेगा कि प्रदेश में राजनीतिक पार्टियां किस मुद्दे को आगे रखकर वोट मांग रही हैं। न्यूज़ 24 के इस कार्यक्रम में अलग-अलग पार्टियों के दिग्गज नेता हिस्सा लेंगे। बिहार की राजनीति की हर महत्वपूर्ण शख्सियत को आप इस महामंच पर देख और सुन सकते हैं। न्यूज़ 24 की कोशिश है कि इस कार्यक्रम के जरिए बिहार के वोटर यहां के चुनावी समर में शामिल राजनीतिक दलों के विचारों से रू-ब-रू हो पाएं ताकि उन्हें अपना नेता चुनने में आसानी हो। न्यूज़ 24 आज  दिनभर इस कार्यक्रम को प्रसारित करेगा। इसके अलावा आप न्यूज़ 24 के आधिकारिक ट्विटर और फेसबुक पेज के जरिए भी कार्यक्रम की अपडेट ले सकते हैं।

ये दिग्गज होंगे शामिल...

--सुशील कुमार मोदी, उप मुख्यमंत्री।

-विपक्ष नेता तेजस्वी यादव

--सांसद चिराग पासवान, लोक जनशक्ति पार्टी 

-कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा

-केंद्रीय मंत्री राम कृपाल यादव

-पूर्व मुख्यमंत्री और हम के प्रमुख जीतन राम मांझी

- कांग्रेस के वरिष्ठ नेता निखिल कुमार

-जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह

-भाजपा के बिहार और गुजरात के प्रभारी भूपेन्द्र यादव

- राज्यसभा सांसद और कांग्रेस नेता अखिलेश प्रसाद 

-VIP पार्टी के मुखिया मुकेश सहनी

-सांसद पप्पू यादव

- जेडीयू के स्पोकपर्सन अजय आलोक

कांग्रेस के लिए बिहार में दूसरे चरण का चुनाव सबसे महत्वपूर्ण था क्योंकि सात चरणों के चुनावों में सिर्फ यही चरण ऐसा था, जिसमें पार्टी सर्वाधिक तीन सीटों पर चुनाव लड़ रही थी इनमें से किशनगंज सीट पर वर्ष 2014 में कांग्रेस का ही कब्जा था और कटिहार से पिछला चुनाव एनसीपी के टिकट पर जीतने वाले तारिक अनवर इस बार कांग्रेस के प्रत्याशी हैं। राज्य में महागठबंधन का हिस्सा बनीं कांग्रेस के खाते में इस बार 9 सीटें आई हैं। चौथे चरण में समस्तीपुर और मुंगेर सीटें शामिल हैं, जबकि पांचवें चरण में छह मई को जिन पांच सीटों पर चुनाव होना है, उसमें कांग्रेस के हिस्से की कोई सीट शामिल नहीं है। छठवें चरण में पार्टी वाल्मीकि नगर और सातवें और अंतिम चरण में कांग्रेस कोटे की सासाराम और पटना साहिब सीट शामिल है। वहीं शुरुआत के तीन चरण में मात्र दो सीटों पर चुनाव लड़ रही भाजपा की असल परीक्षा चौथे चरण से शुरू होगी। एनडीए में अपने हिस्से की 17 में से 15 सीटों पर भाजपा चार से सातवें चरण के बीच चुनाव लड़ेगी। बिहार में पहले चरण की 4 सीटों में भाजपा केवल औरंगाबाद पर चुनाव लड़ी। बाकी तीन सीटें एनडीए के घटक दल जदयू व लोजपा के हिस्से में थी। दूसरे चरण में 5 सीटों पर जदयू प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं तो वहीं तीसरे चरण में भाजपा केवल अररिया में चुनाव लड़ रही है। चौथे चरण से भाजपा की चुनावी भागीदारी अधिक बढ़ जाएगी।