News

50 से ज्यादा आतंकी हमलों में शामिल आरोपी कानपुर से गिरफ्तार, मुंबई से हुआ था लापता

मुंबई ब्लास्ट (Mumbai Blast) सहित 50 से ज्यादा हमलों का आरोपी आतंकी (Terrorist) कानपुर (Kanpur) से गिरफ्तार (Arrested) कर लिया गया है। अजमेर में ब्लास्ट (Ajmer Blast) करने के मामले में गिरफ्तार डॉ. जलीस अंसारी (Doctor Jalis Ansari)

Terrorist, आतंकी

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(17 जनवरी): मुंबई ब्लास्ट (Mumbai Blast) सहित 50 से ज्यादा हमलों का आरोपी आतंकी (Terrorist) कानपुर (Kanpur) से गिरफ्तार (Arrested) कर लिया गया है। अजमेर में ब्लास्ट (Ajmer Blast) करने के मामले में गिरफ्तार डॉ. जलीस अंसारी (Doctor Jalis Ansari) को पैरोल मिली थी। इसी दौरान वह मुम्बई से बुधवार को फरार हो गया। उसके फरारी की सूचना से देश में खलबली मच गई। डॉ. अंसारी को शुक्रवार को कानपुर से पकड़ा गया है। डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि लखनऊ में अब उससे पूछताछ की जाएगी।

मुम्बई से फरार आतंकी डॉ. जलीस अंसारी को शुक्रवार को कानपुर से उस समय गिरफ्तार किया गया, जब वह मस्जिद से बाहर आ रहा था। उसकी योजना देश से भागने की थी। मुंबई से गुरुवार को लापता आतंकी डॉ. जलीस अंसारी कानपुर से गिरफ्तार हो गया है। इसकी जानकारी उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने दी। वह देश से भागने की फिराक में था। डीजीपी ने कहा फिलहाल उससे पूछताछ जारी है। देशभर में कई सिलसिलेवार बम धमाकों के मामलों में दोषी और सजायाफ्ता डॉ. जलीस अंसारी गुरुवार को मुंबई से लापता हो गया था। वह पैरोल पर मुंबई में था। आतंकी जलीस अंसारी पिछले महीने पैरोल पर अजमेर की जेल से बाहर आया था। 

उस पर 50 से ज्यादा सीरियल बम धमाके करने का भी आरोप है। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा डॉ. जलीस अंसारी सीरियल धमाकों का दोषी है। वह तो पैरोल पर बाहर था, इसके बाद उसके परिवार के लोगों ने मुम्बई में उनके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई।आज कानपुर से उसको गिरफ्तार कर लिया गया है। वह कानपुर की एक मस्जिद से बाहर आ रहा था। उसे लखनऊ लाया गया है। उसकी गिरफ्तार यूपी पुलिस की बड़ी उपलब्धि है। मुबई में 1993 में हुए ब्लास्ट का मुख्य आरोपी और 50 से अधिक आतंकी घटनाओं में बम बनाने वाले आरोपित डॉ जलीस अंसारी को एसटीएफ ने कानपुर से गिरफ्तार किया । वह 26 दिसंबर 2019 से पैरोल पर था। पुलिस का दावा है कि डॉ जलीस देश से भागने की फिराक में था ।

आईजी एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि संत कबीर नगर निवासी डॉ. जलीस अंसारी का नाम 50 से अधिक सीरियल बम विस्फोट में था। उसको 26 दिसम्बर को तीन सप्ताह के लिए पैरोल पर छोड़ा गया था। इसके बाद 17 जनवरी को वापस जेल जाना था। मुम्बई से गायब होने की सूचना पर एसटीएफ सक्रिय हो गई थी। आईजी एसटीएफ के पास उसके कानपुर में होने की सूचना थी। आज कानपुर में एक एक मस्जिद से निकल कर वह रेलवे स्टेशन जा रहा था। इसके बाद एसटीएफ ने बातचीत कर उसे पकड़ा। कानपुर से ट्रेन से उसके गोरखपुर जाने की योजना थी। वहां से नेपाल से रास्ते भारत से भागने की योजना बना चुका था। जलीस बम बनाने का मास्टर है। पेशे से डॉक्टर जलीस आतंकी गतिविधियों में शामिल हो गया था। उसको कानपुर से गिरफ्तार कर लखनऊ लाया गया है। 

एसटीएफ की गिरफ्त में आए आतंकी डॉ. मोहम्मद जलीस अंसारी ने कहा कि 21 दिन पहले मैं पैरोल पर बाहर आया था। 17 जनवरी को मुझे वापस जाना था, लेकिन मैं मुंबई से कानपुर आ गया। आज मुझे एसटीएफ से गिरफ्तार कर लिया है। जलीस अंसारी एमबीबीएस डॉक्टर है। वह आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन से जुड़ा हुआ था और आतंकियों को बम बनाने की ट्रेनिंग देता था, इसी के चलते लोग उसे 'डॉक्टर बम' के नाम से बुलाने लगे। 2008 के मुंबई ब्लास्ट केस में भी एनआईए ने 2011 में अंसारी से पूछताछ की थी। अजमेर ब्लास्ट के मामले में टाडा कोर्ट ने उसे उम्र कैद की सजा सुनाई थी।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top