News

ISI एजेंट के सिम से खुलासा, पाकिस्तानी व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े थे इतने भारतीय

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चंदौली से गिरफ्तार (Arrested) किया गया पाकिस्तानी (Pakistan) खुफिया एंजेंसी के एजेंट से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है।आईएसआई (ISI) का एजेंट 'जिंदगी ना मिलेगी' नामक व्हाट्सएप ग्रुप (Whatsapp Group ) का मेंबर था।

Pakistan, पाकिस्तान

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली, (25 जनवरी): उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चंदौली से गिरफ्तार (Arrested) किया गया पाकिस्तानी (Pakistan) खुफिया एंजेंसी के एजेंट से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है।आईएसआई (ISI) का एजेंट 'जिंदगी ना मिलेगी' नामक व्हाट्सएप ग्रुप (Whatsapp Group ) का मेंबर था। यह व्हाट्सएप ग्रुप पाकिस्तान के आईएसआई हैंडलर्स मैनेज करते थे। हैरान करने वाली बात यह है कि इस ग्रुप में कुल 56 भारतीय लोग भी शामिल हैं। काशी विश्वनाथ मंदिर, ज्ञानवापी मस्जिद, संकटमोचन मंदिर, कैंट रेलवे स्टेशन, दशाश्वमेध घाट, मालवीय पुल, कैंट और एयरफोर्स से जुड़े वीडियो और तस्वीरों को आईएसआई को भेजने के आरोप में मोहम्मद रशीद को गिरफ्तार किया गया था। 

23 साल के रशीद को यूपी ऐंटी- टेररिस्ट स्क्वॉड ने मिलिटरी इंटेलिजेंस के साथ एक संयुक्त ऑपरेशन में गिरफ्तार किया था। एटीएस के एडीजी ध्रुवकांत ठाकुर ने कहा कि उनके कब्जे से बरामद एक सिम कार्ड की जांच की गई और यह पता चला कि वह नंबर का इस्तेमाल पाकिस्तान के आईएसआई हैंडलर्स के साथ बातचीत के लिए करता था। ठाकुर ने कहा, 'अभी तक किसी तरह का डेटा रिकवर नहीं हो पाया है, लेकिन उस व्हाट्सएप  ग्रुप में 56 मेंबर भारत के थे।

यूपी के अलावा इनमें से कुछ सदस्य दूसरे राज्यों के भी थे। हमने उनकी डिटेल्स उन राज्यों की पुलिस के साथ शेयर कर दी है।' ठाकुर ने यह भी कहा कि रशीद शहर में बैनर लगाता था और वह ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं था। सूत्रों के मुताबिक, राशिद के कुछ रिश्तेदार भी उस ग्रुप के मेंबर थे, उनसे पूछताछ की जा रही है।

  यह भी पढ़े :-धोखाधड़ी के मामले में सपा विधायक को जेल


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top