News

कमलनाथ कैबिनेट में 28 मंत्री, दिग्विजय के बेटे भी बने मंत्री

मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के मंत्रिमंडल का मंगलवार को शपथ ग्रहण हुआ। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 28 मंत्रियों को शपथ दिलाई। इनमें एक निर्दलीय प्रदीप जायसवाल, दाे महिलाएं- विजयलक्ष्मी साधौ और इमरती देवी और एक मुस्लिम- आरिफ अकील को मंत्री बनाया गया है। 15 विधायक ऐसे हैं, जो पहली बार मंत्री बने, जबकि कांग्रेस से पहली बार विधायक बने 55 नए चेहरों में से किसी को भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 दिसंबर):  मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के मंत्रिमंडल का मंगलवार को शपथ ग्रहण हुआ। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 28 मंत्रियों को शपथ दिलाई। इनमें एक निर्दलीय प्रदीप जायसवाल, दाे महिलाएं- विजयलक्ष्मी साधौ और इमरती देवी और एक मुस्लिम- आरिफ अकील को मंत्री बनाया गया है। 15 विधायक ऐसे हैं, जो पहली बार मंत्री बने, जबकि कांग्रेस से पहली बार विधायक बने 55 नए चेहरों में से किसी को भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई।

ये मंत्री हुए कमलनाथ की कैबिनेट में शामिल

  1. विजय लक्ष्मी साधौ
  2. सज्जन सिंह वर्मा
  3. हुकुम सिंह कराड़ा
  4. गोविंद सिंह
  5. बाला बच्चन
  6. आरिफ अकील
  7. बृजेंद्र सिंह राठौर
  8. प्रदीप जायसवाल (निर्दलीय)
  9. लाखन सिंह यादव
  10. तुलसी सिलावट
  11. गोविंद सिंह राजपूत
  12. इमरती देवी
  13. ओमकार सिंह मरकाम
  14. डॉ. प्रभुराम चौधरी
  15. प्रियव्रत सिंह
  16. सुखदेव पानसे
  17. उमंग सिंघार
  18. हर्ष यादव
  19. जयवर्धन सिंह
  20. जीतू पटवारी
  21. कमलेश्वर पटेल
  22. लखन घनघोरिया
  23. महेंद्र सिंह सिसोदिया
  24. पीसी शर्मा
  25. प्रद्युम्न सिंह तोमर
  26. सचिन सुभाष यादव
  27. सुरेंद्र सिंह बघेल
  28. तरुण भनौत

7 जनवरी से विधानसभा का सत्र

मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र 7 जनवरी से शुरू हो रहा है, जिसमें सभी विधायकों को प्रोटेम स्पीकर शपथ दिलाएंगे, जो कि सदन का वरिष्ठ नेता होता है। इस पद के लिए अभी भाजपा से गोपाल भार्गव और कांग्रेस से डॉ. गोविंद सिंह का नाम आगे है।इधर, सामान्य प्रशासन विभाग ने नए मंत्रियों के लिए 30 वाहन तैयार किए हैं, जिन्हें उन्हें शपथ लेने के बाद उपलब्ध करा दिया जाएंगे। यह सत्र 11 जनवरी तक चलेगा। सरकार 10 संसदीय सचिव बना सकती है। इन्हें कैबिनेट या राज्यमंत्री का दर्जा होगा। इस बारे में मुख्यमंत्री ने विवेक तन्खा से चर्चा की।

कौन हैं निर्दलीय प्रदीप जायसवाल

निर्दलीय...प्रदीप जायसवाल, वारासिवनी व्यवसाय- सिविल इंजीनियर, कांट्रेक्टरजायसवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले संजय मसानी को हराया है। वर्ष 1998, 2003 और 2008 में विधायक रह चुके जायसवाल 2013 में हार गए थे। संजय के कारण आखिरी दिन प्रदीप का टिकट काटा गया था। मंत्री पद के भरोसे पर ही कांग्रेस को समर्थन दिया है।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top